-व‌र्ल्ड वॉटर डे लोगों ने लिया गंगा को बचाने का संकल्प

-गंगा की अविरलता के लिए मानव श्रृंखला भी बनाई

varanasi@inext.co.in

VARANASI: 'व‌र्ल्ड वॉटर डे' के अवसर पर शनिवार को विभिन्न सामाजिक संगठनों की ओर से कार्यक्रम का आयोजन हुआ. लोगों ने जीवन के लिए जरूरी पानी की एक एक बूंद को बचाने का संकल्प लिया. इसी क्रम में संकटमोचन फाउंडेशन की ओर से गंगा की अविरलता के लिए मानव श्रृंखला बनायी गयी. अस्सी से चेतसिंह घाट तक बनी मानव श्रृंखला में शामिल लोगों ने गंगा की अविरलता व स्वच्छता के लिए संकल्प लिया. इस अवसर पर संकटमोचन फाउंडेशन के प्रेसिडेंट प्रो. विश्वम्भरनाथ मिश्र की अध्यक्षता में तुलसी घाट पर संकल्प सभा भी हुई. वक्ताओं ने प्रख्यात पर्यावरणविद् स्व. प्रो.वीरभद्र मिश्र का शहर में मूर्ति लगाने की मांग की.

घाटों पर हो साफ-सफाई

तुलसी घाट पर काशी वासियों ने संकल्प लिया कि 'काशी के पवित्र गंगा अस्सी एवं वरुणा में जो भी मल-जल गिरता है उसे रोकने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे.' गंगा में बहने वाले प्लास्टिक, थैली और माला फूल को एकत्रित करके एक नियत स्थान पर रखेंगे. एडमिनिस्ट्रेशन से अपील करेंगे कि घाटों की साफ-सफाई व्यवस्था को सुनिश्चित करें. प्रोग्राम में चीफ गेस्ट डिस्ट्रिक जज शक्तिकांत, प्रो.विश्वम्भरनाथ मिश्र, मेयर रामगोपाल मोहले, एमएलए अजय राय, विजय शंकर पांडेय, सनबीम सूमह के चेयरमैन दीपक मधोक, राम मोहन अग्रवाल आदि प्रेजेंट रहे.

मातृभूमि जन सेवा ट्रस्ट संस्थान ने गोलगड्डा स्थित मजहरुल उलूम में सेमिनार का आयोजन किया. प्रोग्राम में चीफ गेस्ट डॉ. पीके मिश्र बीएचयू, मो.एखलाक अहमद और अब्दुल बातिन नोमानी आदि शामिल रहे. बीएचयू के एग्रीकल्चर साइंस डिपार्टमेंट में भी व‌र्ल्ड वॉटर डे पर कार्यक्रम का आयोजन हुआ.