छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र : मानगो के आजादनगर थाना के ग्रीन वैली-17 नंबर रोड के कुली लाइन स्थित मायके में रह रही बुशरा तब्बसुम की छाती में उसके पति मो कलीम ने चाकू से कई प्रहार किए. इसके बाद पति भाग निकला. जानकारी पर परिवार वाले बुशरा को टाटा मुख्य अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

2002 में हुई थी शादी

बुशरा तब्बसुम की शादी चांडिल थाना के कपाली ओपी क्षेत्र के कबीरनगर निवासी मो. कलीम के साथ 2002 में हुई थी. उसके दो बच्चे है. घटना शुक्रवार की दोपहर डेढ़ बजे की है. पति डेढ़ माह पूर्व ही सउदी से वापस लौटा है. मृतका के पिता मोहनुद्दीन और भाई राशिद ने आजादनगर थाने की पुलिस को बताया कि कलीम ने ही घर में घुसकर घटना को अंजाम दिया. आजादनगर थाना प्रभारी के मुताबिक आरोपी की तलाश पुलिस कर रही है. पति ने ऐसा क्यों किया, यह उसकी गिरफ्तारी और उससे पूछताछ के बाद ही मिल सकती है.

रिश्ते में थी खटास

आसपास में रहनेवाले लोगों ने जो जानकारी दी है उसके मुताबिक, मो. कलीम और उसके पत्‍‌नी के बीच वैवाहिक रिश्ता ठीक नही था. पत्‍‌नी के व्यवहार से पति खफा रहता था. पत्‍‌नी अक्सर बच्चों को ससुराल में छोड़ मायके में अधिक रहती थी. सीसीआर डीएसपी जसिंता केरकेट्टा ने टाटा मुख्य अस्पताल पहुंच मामले की जानकारी ली.

पत्‍‌नी को घर खरीद कर दिया कलीम ने

कलीम के परिचित और मित्रों ने बताया कि कलीम डेढ़-दो माह पूर्व ही साउदी से लौटा है और उसे इस सप्ताह फिर वापस जाना था. बावजूद उसकी पत्‍‌नी मायके में रहना पसंद करती थी. पति से उसका कोई मतलब नही रहता था. हमेशा फोन पर पत्‍‌नी किसी से बातचीत करती थी. इस कारण पति ने उससे मोबाइल भी छीन ली थी. पत्‍‌नी ने दूसरी मोबाइल की खरीद कर ली. पति-पत्‍‌नी के विवाद को लेकर पंद्रह-बीस दिन पूर्व समझौता भी हुआ था. इसके बाद कलीम के साथ उसकी पत्‍‌नी ससुराल गई थी. फिर वह वापस मायके लौट आई. कलीम ने पत्‍‌नी को घर भी खरीद कर दिया था.