मुंबई में पत्रकारों से बातचीत करते हुए अक्षय ने अपने इस डर के बारे में बताया. वो बोले, “मैं सबसे ज़्यादा अपनी बीवी से डरता हूं, सभी मर्द अपनी-अपनी बीवियों से डरते हैं, यहां मौजूद शादीशुदा मर्दों से पूछो. इनमें से कोई माई का लाल है जो कह दे कि वो अपनी बीवी से नहीं डरता.”

चलो ये तो मान लिया कि अक्षय अपनी बीवी से डरते हैं लेकिन उन्होंने आज तक फ़िल्मों में कई ख़तरनाक स्टंट किये हैं, तो क्या कभी इन्हें करते हुए उन्हें डर नहीं लगा. अक्षय कहते हैं, “ मैंने बहुत सारे ऐक्शन सीन किए हैं जिनको करते हुए मुझे बहुत डर लगा, लेकिन वो डर अच्छा डर था. आप स्टंट कीजिए लेकिन डर के, ध्यान से, देखिए कहीं आपको चोट ना लगे.”

हाल ही में अक्षय कुमार को बच्चों के एक ऐक्शन चैनल का ब्रैन्ड ऐम्बैसडर बनाया गया है. अक्षय कहते हैं स्टंट करने से पहले ठीक से सोच लेना चाहिए कि क्या-क्या गलत हो सकता है या आप कैसे स्टंट करने वाले हैं.

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि अक्षय कुमार की छवि 'ख़तरों के खिलाडी' की है लेकिन पिछले 6 सालों में उन्होंने एक भी ऐक्शन फ़िल्म नहीं की है. अब अक्षय 'राउडी राठौर' के साथ ऐक्शन फ़िल्मों में वापसी कर रहे हैं जो कि जुलाई 2012 में रिलीज़ होगी.

जब अक्षय से पूछा गया कि आजकल जिस तरह से दूसरे अभिनेताओं की ऐक्शन फ़िल्में हिट हो रही हैं तो क्या इससे उनके 'ऐक्शन हीरो' के ताज को कोई ख़तरा है और क्या यही वजह है कि वो ऐक्शन फ़िल्मों में वापसी कर रहे हैं.

इसपर अक्षय ने कहा, “यहां टाइटल के लिए कोई लड़ाई नहीं हो रही है. हम रेस कोर्स के घोड़े नहीं हैं कि हमें नम्बर एक, दो या तीन पर रहना है. हम फ़िल्में करते हैं ताकि फ़िल्म उद्योग आगे बढ़े. साल में 185 फ़िल्में बनती हैं तो हर हीरो के पास तीन चार फ़िल्में तो हैं ही.”

International News inextlive from World News Desk