- विश्वास प्रस्ताव में सीएम जीतन राम मांझी ने विकास को गिनाया

- सवाल दागा, चुनाव प्रचार में इतना काला धन कहां से आया

patna@inext.co.in

PATNA: विश्वास प्रस्ताव पर हुई बहस में अपना जवाब देते हुए सीएम जीतनराम मांझी ने नीतीश सरकार में हुए कार्यो का लेखा-जोखा सामने रखा. सीएम ने जिन खास बातों का जिक्र किया, उसकी खास क्ब् बातें ये हैं.

क्. मैं मोम का पुतला नहीं हूं. रिमोट से सरकार संचालित नहीं होगी.

ख्. नीतीश कुमार का नेतृत्व व निर्देशन मानते हुए आगे बढ़ेंगे.

फ्. दिल में अगर दलितों-पिछडो़ं के लिए जगह है, तो बिहार का स्वर्णिम इतिहास बनेगा.

ब्. नीतीश कुमार ने जाति व धर्म की जगह विकास पर जीत हासिल की थी.

भ्. बुरे दिन आने वाले हैं गरीबों और पिछडो़ं के लिए, जिनके पास प्रचार तंत्र नहीं है.

भ्. पानी की तरह पैसा बहाया गया चुनाव में. आरजेडी के एक नेता का बयान आया कि 8 हजार करोड़ बहाया गया बिहार में. यह कालाधन कहां से आया? हम पूछना चाहते हैं.

म्. बिहार के लोगों को भरमाया गया, जिससे जेडीयू के पक्ष में लोगों ने कम वोटिंग की.

7. महादलित विकास मिशन के तहत आवासीय भूमि, शौचालय का निर्माण, विशेष विद्यालय, सामुदायिक भवन बनाए गए. रेडियो योजना के लिए वित्तीय वर्ष में स्वीकृत क्म्8 करोड़ रुपए के तहत योजनाओं का क्रियान्वयन. अब तक क्भ् लाख से ज्यादा महादलित परिवारों को मुख्यमंत्री महादलित रेडियो योजना के तहत लाभान्वित किया गया है.

8. नीतीश कुमार ने कभी नहीं कहा कि ख्0क्भ् तब बिजली गांव-गांव तक पहुंचाएंगे, नहीं तो वोट नहीं मांगेंगे. उन्होंने सुधार की बात कही थी.

9. पांच हजार कब्रिस्तान की घेराबंदी की गई और तीन हजार प्रक्रिया में है.

क्0. पंचायत और निकाय चुनाव में आरक्षण दिया गया.

क्क्. एससी के लिए साढ़े सात हजार करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं. एससी को सत्ता में बड़ी भागीदारी भी मिली.

क्ख्. हमारी सरकार ने कृषि कैबिनेट का गठन किया.

क्फ्. राज्य सरकार के विशेष प्रयासों और वित्तीय प्रबंधन के फलस्वरूप राज्य का सकल घरेलू उत्पाद यानी जीएसडीपी जो वर्ष ख्00भ्-0म् में 8ख्ब्90.ख्0 करोड़ रुपए का था, वह वर्ष ख्0क्ख्-क्फ् में बढ़कर फ्08म्फ्9.म्0 करोड़ रुपए हो गया. वर्षख्0क्ख्-क्फ् के बीच क्ख् प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

क्ब्. पुलिस तंत्र को सुदृढ़ किया जा रहा है. पुलिस बल और जनसंख्या के राष्ट्रीय अनुपात को हासिल करने के लिए पुलिसकर्मियों और पदाधिकारियों के कुल ब्फ् हजार 7म्क् पदों पर नियुक्ति की कार्रवाई चल रही है.