नई दिल्ली (पीटीआई)। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) बोर्ड ने गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी 20 विश्व कप के भाग्य पर फैसला 10 जून तक टाल दिया। इसके साथ ही आईसीसी ने अपने कामकाज की "गोपनीयता" पर चिंताओं की जांच शुरू की, जिसे बोर्ड ने महसूस किया कि पिछले कुछ दिनों में इसका उल्लंघन हुआ है। टी-20 विश्व कप 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक निर्धारित है लेकिन COVID-19 महामारी और वर्तमान में निलंबित आईपीएल द्वारा उपयोग की जा रही खिड़की के कारण कार्यक्रम के स्थगित होने की तीव्र अटकलें हैं।

बोर्ड की गोपनीयता को बनाए रखना है

आईसीसी ने बोर्ड के टेली कॉन्फ्रेंस के बाद एक बयान में कहा, "बोर्ड ने आईसीसी प्रबंधन से अनुरोध किया कि कोविड ​​19 वायरस के कारण तेजी से बदलती सार्वजनिक स्वास्थ्य स्थिति के कारण विभिन्न आकस्मिक विकल्पों की खोज में स्टेक होल्डर्स के साथ उनकी चर्चा जारी रहे।" इस बीच आईसीसी को यह भी पता चला कि, उनकी अंदरुनी चर्चा बाहर लीक हो रही है। आईसीसी की विज्ञप्ति में कहा गया, "बोर्ड के कई सदस्यों ने हाल ही में इस मुद्दे पर अपनी चिंताओं को उठाया था और महसूस किया कि बोर्ड के मामलों की सर्वोच्चता के अनुरूप बोर्ड की पवित्रता और गोपनीयता सुनिश्चित करने के लिए तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता है।" इसके लिए आईसीसी के एथिक्स अधिकारी मीडिया लीक की जांच करेंगे।

10 जून को होगी फिर मीटिंग

इसमें आगे कहा गया है कि आईसीसी के एथिक्स अधिकारी के नेतृत्व में एक स्वतंत्र जांच शुरू करने के लिए सर्वसम्मति से समझौता किया गया था। बोर्ड ने बताया, 10 जून 2020 को अपनी अगली बैठक में आईसीसी सीईओ द्वारा इस पर अपडेट किया जाएगा। यह समझा जाता है कि ICC बोर्ड ने विश्व कप के संबंध में सभी विकल्पों पर चर्चा की, लेकिन इस बात पर कोई एकमत नहीं था कि विश्व टी 20 को तय कार्यक्रम के अनुसार आगे बढ़ाया जाए या इसे 2021 या संभवतः 2022 तक स्थगित कर दिया जाए।

टी-20 विश्वकप खेलना सुरक्षित है या नहीं

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपनी यात्रा के दिन की घोषणा के साथ, जिसमें अक्टूबर में टी 20 मैच शामिल थे, ऐसे सवाल हैं कि विश्व टी 20 ऐसे परिदृश्य में आगे क्यों नहीं बढ़ सकता है। एक सूत्र ने पीटीआई को बताया, 'यदि आप ऑस्ट्रेलियाई यात्रा कार्यक्रम को देखें, तो भारत का टी-20 मैच विश्व टी-20 के शुरू होने से पहले अक्टूबर के मध्य में निर्धारित किया गया है। यदि आप अक्टूबर के मध्य में टी-20 खेल खेल सकते हैं, तो विश्व टी-20 खेलना सुरक्षित क्यों नहीं है।'

बीसीसीआई का क्या होगा रुख

विश्व टी 20 का होना न केवल एक स्वास्थ्य चिंता का विषय है, बल्कि व्यावसायिक व्यवहार्यता के बारे में भी है। अगर बीसीसीआई इस खिड़की में आईपीएल को आयोजित करने में असमर्थ है, तो उसे 4000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा। जो निश्चित रूप से एक बड़ा झटका होगा। साथ ही स्टार स्पोट्र्स, जो आईसीसी और बीसीसीआई दोनों का प्रसारण भागीदार है, को भी कैलेंडर को फिर से तैयार करने के संबंध में विश्वास में लेना होगा।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk