द हेग (पीटीआई)। भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव से जुड़े मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय बुधवार शाम को अपना फैसला सुनाएगा। 49 वर्षीय जाधव को पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में जासूसी और आतंकवाद के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी, जिसका भारत ने जमकर विरोध किया था। इस मामले में कोर्ट के प्रेसिडेंट जज अब्दुलकवी अहमद यूसुफ बुधवार को दोपहर 3 बजे (भारतीय समय के अनुसार शाम 6।30 बजे ) नीदरलैंड के द हेग में पीस पैलेस में एक सार्वजनिक बैठक के दौरान फैसले को पढ़ेंगे। बता दें कि इस चर्चित मामले में आईसीजे की तरफ से पांच महीने बाद आने वाला है। 21 फरवरी को भारत और पाकिस्तान की दलीलें सुनने के बाद आईसीजे के जज युसुफ की अगुवाई वाली 15 सदस्यीय पीठ ने फैसले को सुरक्षित रख लिया था। इस मामले की कार्यवाही पूरी होने में दो साल और दो महीने लग गए हैं।

जाधव के खिलाफ हमारे पास तगड़ा सबूत, इंटरनेशनल कोर्ट में पेश करेंगे मजबूत केस : पाक

पाकिस्तान करेगा फैसले को स्वीकार
पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने कहा कि पाकिस्तान ने आईसीजे के सामने अपना पक्ष ठीक तरह से रखा है। उन्होंने कहा कि वह अंतर्राट्रीय कोर्ट के फैसले को स्वीकार करेंगे। बता दें कि जाधव के मामले को सुलझाने के लिए संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष अदालत में फरवरी महीने में चार दिवसीय सुनवाई हुई। सुनवाई के पहले दिन, भारत ने आईसीजे से आग्रह किया कि वह जाधव की मौत की सजा को रद करे और उसकी तत्काल रिहाई का आदेश दे क्योंकि उसे बिना किसी सबूत के जासूसी के मामले में फंसाया गया है। अब इस मामले में शाम को फैसला आना है, भारत को भी इससे काफी उम्मीदें हैं।

International News inextlive from World News Desk