- सर्दी बढ़ने के साथ ही अस्पतालों में बढ़ने लगे अर्थराइटिस के मरीज

LUCKNOW:

जैसे-जैसे सर्दी बढ़ रही है, लोगों में जोड़ों के दर्द की समस्या भी बढ़ती जा रही है। इसका कारण है कि अर्थराइटिस के मरीजों की मांसपेशियां ठंड से जकड़ने लगती हैं, जिससे दर्द भी बढ़ जाता है। यह बीमारी पहले बुजुर्गो में ही पाई जाती थी, लेकिन अब कम उम्र के लोग भी इसका शिकार हो रहे हैं। डॉक्टर्स का कहना है कि लाइफ स्टाइल में आ रहा चेंज और खानपान की बदलती आदत से अर्थराइटिस के मरीजों की संख्या 20 फीसद तक बढ़ गई है। इनमें से अधिकतर मरीज 35 से 45 वर्ष की उम्र के बीच के हैं।

20 मिनट धूप में जरूर रहें

आजकल लोगों की लाइफ स्टाइल और फूड हैबिट ही उन्हें अर्ली एज में अर्थराइटिस का शिकार बना रही है। इसके हर 100 नए मामलों में करीब 20 मरीज 35 से 40 वर्ष की उम्र के हैं। ऑफिस में ज्यादा देर तक लगातार बैठे रहने से भी यह बीमारी हो रही है, वहीं एक्सरसाइज न करना भी इसका एक कारण है। लगातार बैठे रहने से शरीर में कैलशियम की कमी हो जाती है, इसलिए जरूरी है कि सप्ताह में कम से कम तीन बार दोपहर 11 बजे से 1 बजे तक 20 मिनट धूप में जरूर रहें।

डॉ। अजय सिंह, केजीएमयू, आर्थोपेडिक

हर घंटे उठकर टहलें

जाड़े में मांसपेशियों में जकड़न ज्यादा होती है। इन दिनों ओल्ड एज वाले मरीज अधिक आ रहे हैं लेकिन अब यंग लोगों में भी यह बीमारी बढ़ रही है। इसका कारण है कि अब लोग पैर मोड़कर बहुत देर तक बैठे काम करते रहते हैं और एक्सरसाइज भी नहीं करते हैं। इससे बचने का तरीका है कि हर एक घंटे बाद बॉडी को स्ट्रेच करें। एक पोजिशन में लगातार न बैठें। इसके साथ ही जंक फूड से भी बचें।

डॉ। सीएस नेगी, सिविल, आर्थोपेडिक

ऑफिस में भी एक्सरसाइज करें

अब लोग घंटों कंप्यूटर और मोबाइल पर लगे रहते हैं, जिससे उनके घुटने, गर्दन आदि एक ही पोजीशन में काफी देर तक बनी रहती हैं। जिससे इनमें जकड़न आने लगती है। लोग ऑफिस में बैठे रहते हैं जिससे उन्हें धूप भी नहीं मिलती है और शरीर में कैलशियम की कमी हो जाती है। इस बीमारी से बचने के लिए हर एक घंटे बाद कुछ मिनट टहलें जरूर। इन दिनों इस बीमारी के 5-6 फीसद केस 40 से कम उम्र के लोगों में दिखाई दे रहे हैं।

डॉ। अनूप, केजीएमयू, आर्थोपेडिक

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner