शिमला (एएनआई)। आईएमडी के अनुसार, राज्य में विभिन्न स्थानों पर अगले 24 घंटों तक बारिश जारी रहेगी। आईएमडी के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि 'हिमाचल प्रदेश में पिछले 24 घंटों में भारी वर्षा दर्ज की गई है। कई स्टेशनों ने हमें राज्य भर में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा के बारे में सूचित किया है। शिमला, बिलासपुर और हमीरपुर में अत्यधिक भारी बारिश की सूचना मिली है। राज्य में अब तक की सबसे अधिक बारिश हुई है, पिछले 24 घंटों में 102 मिमी बारिश हुई है'।

टूट गए पिछले रिकॉर्ड

इससे पहले, अगस्त 2011 में हिमाचल प्रदेश में 74 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। लेकिन भारी बारिश ने इस साल पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। नैना देवी में सबसे अधिक 360 मिमी और शिमला में 153 मिमी वर्षा दर्ज की गई। आईएमडी के अनुसार, राज्य के कुछ जिलों में बर्फबारी भी हुई है। लाहौल और स्पीति जिले और कीलोंग में अब तक 3 मिमी बर्फबारी दर्ज की गई है। क्षेत्र में भूस्खलन और पेड़ों के उखड़ने के बारे में चेतावनी जारी की गई है।

24 घंटे बाद मौसम साफ होने की उम्मीद

स्थानीय मौसम विभाग के अनुसार, 24 घंटे बाद मौसम साफ होने लगेगा। इस बीच हथिनी कुंड बैराज से लगभग 8,28,000 क्यूसेक पानी छोड़े जाने के चलते हरियाण के इंद्री जिले के कई गांव बाकी जगहों से कट गए व खेत पानी में डूब गए हैं। प्रभावित लोगों तक मदद पहुंचाने के लिए प्रशासन हरसंभव कोशिश कर रहा है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के मुताबिक हमने कल रात 2 बजे इंद्री जिले के टापू गाँव से प्रभावित लोगों को एयरलिफ्ट किया है।

दिल्ली के निचले इलाकों पर मंडराया खतरा  

यमुना नगर के हथिनी कुंड बैराज से पानी छोड़े जाने के बाद रविवार को यमुना का स्तर जलग्रहण क्षेत्र के पास बढ़ने लगा। सिंचाई विभाग के अधिकारी हरिदेव कांबोज ने एएनआई को बताया, 'दोपहर 3 बजे से 7 बजे तक, 60,466 क्यूसेक पानी बैराज से छोड़ा गया था, जो अगले 48 घंटों में दिल्ली में निचले इलाकों को प्रभावित कर सकता है। यमुनानगर के आस-पास के सभी इलाकों में प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित कर दिया है। उन्होंने कहा, 'उत्तराखंड में भारी वर्षा और बादल फटने के कारण नदी में जल स्तर बढ़ रहा है। अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।'

Posted By: Satyendra Kumar Singh

National News inextlive from India News Desk