-महिला आयोग की अध्यक्ष ने मामले में एफआईआर दर्ज कराने का दिया आदेश

bareilly@inext.co.in

BAREILLY: राज्य महिला आयोग की सदस्य रश्मि जायसवाल ने वेडनसडे को सर्किट हाउस में पीडि़त महिलाओं की समस्याओं को सुना. साथ ही त्वरित निस्तारण के भी आदेश अफसरों को दिए. इसी बीच संजय नगर निवासी प्रीती को स्ट्रेचर पर लेकर परिजन सर्किट हाउस पहुंचे, जिसे देखकर महिला आयोग की अध्यक्ष भी दंग रह गईं. महिला का दर्द सुनने के लिए वह खुद चेयर छोड़कर उसके पास आई तो पता चला कि वह डेढ़ साल से स्ट्रेचर पर है. आरोप था कि कम दहेज लाने के लिए पति ने मारपीट कर उसे अपाहिज बना दिया है. आयोग की अध्यक्ष ने मामले में इंस्पेक्टर को तत्काल मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई के निर्देश दिए. इसके साथ कुल महिला आयोग की सदस्य के पास कुल 6 शिकायतें पहुंची, जिसमें रेप और छेड़छाड़ की एक-एक और दहेज उत्पीड़न की 4 शिकायतें थीं, जिनका त्वरित निस्तारण का आदेश दिया. इस मौके पर प्रीति पत्‌नी अमित, निधि रस्तोगी, आसिया की समस्याओं को गहनता से सुना. बैठक में सिटी मजिस्ट्रेट अशोक कुमार शुक्ला, डिप्टी सीपीओ नीता अहिरवार, महिला चौकी की इंचार्ज सहित विभागीय अफसर मौजूद रहे.

लेबर रूम में मिली गंदगी
महिलाओं के मामलों की सुनवाई के बाद आयोग की अध्यक्ष जिला महिला अस्प्ताल पहुंची. यहां उन्होंने ओपीडी, वार्ड और लेबर रूम का निरीक्षण किया. लेबर रूम के अंदर गंदगी मिलने पर उन्होंने नाराजगी जताते हुए सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने के निर्देश अस्पताल स्टाफ को दिए.