bareilly@inext.co.in

BAREILLY: लव मैरिज के बाद साक्षी व अजितेश अब अज्ञात स्थान पर हैं. सुरक्षा के लिहाज से उनका ठिकाना गोपनीय रहे, इसलिए उनकी सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों के मोबाइल फोन ऑफ करा दिए गए हैं. वे किसी से संपर्क नहीं कर सकते.

मंडे को हाईकोर्ट में पेश होने के बाद आदेश हुए थे कि साक्षी व अजितेश को पुलिस सुरक्षा दी जाए. जिसके बाद इज्जतनगर पुलिस के एक दारोगा, एक महिला सिपाही व दो सिपाही उनके साथ तैनात कर दिए गए हैं. सभी के मोबाइल नंबर बंद करा दिए गए. इन पुलिसकर्मियों को विभागीय जरूरत पर यदि फोन करने की जरूरत होगी तो वे अपना नंबर ऑन कर सिर्फ एसएसपी व इज्जतनगर थाना प्रभारी से बात कर सकेंगे. जिस तरह साक्षी व अजितेश ने अपनी जान को खतरा बताया है, उसे देखते हुए माना जा रहा है कि वे कुछ दिन शहर से दूर ही रहेंगे. अभी घर वापसी की उम्मीद कम ही है.

बरेली पुलिस के पास पहुंचा आदेश
ट्यूज डे को इज्जतनगर पुलिस के पास सुरक्षा संबंधी कोर्ट का आदेश पहुंच गया. जिसके बाद अजितेश के वीर सावरकर नगर स्थित घर पर स्थाई पिकेट तैनात कर दी गई. एक दारोगा व तीन सिपाही 24 घंटे तैनात रहेंगे. हालांकि, इससे पहले माहौल गरमाने पर नौ जुलाई से ही वहां एहतियातन अस्थाई तौर पर पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे.

वर्जन

कोर्ट का आदेश मिलने के बाद अजितेश के घर चार पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई है. उनके साथ लगे पुलिसकर्मियों के फोन सुरक्षा के लिहाज से बंद रहेंगे.

-केके वर्मा, इंस्पेक्टर, इज्जतनगर

क्या है मामला
बिथरी विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी तीन जुलाई को अपने प्रेमी अजितेश के साथ घर से चली गई और चार जुलाई को दोनों ने मंदिर में शादी कर ली. उसके बाद वीडियो वायरल कर जान का खतरा बताया था.