प्रधान आयकर निदेशक से विवाद करने वाले भी हैं शामिल

Bareilly: खाद्य तेल कारोबारी खंडेलवाल बंधु के बाद आयकर विभाग की नजर शहर के 11 धनाढ्य व्यापारियों पर है, जो रुपया तो जमकर कमा रहे हैं, लेकिन टैक्स देने से बच रहे हैं. इसमें उन व्यापारियों के भी नाम शामिल हैं, जिन्होंने संडे को आयकर के प्रधान निदेशक जांच से घनश्याम खंडेलवाल के समर्थन में अभद्रता की थी.

वीडीओ रिकॉर्डिग की होगी पड़ताल-

आयकर की टीम को लगातार रेड के दौरान घेराबंदी करने वाले व्यापारियों की पड़ताल वीडियों रिकार्डिग से हो रही है. आयकर विभाग के सूत्रों की मानें तो आयकर की घेराबंदी कर कार्य प्रभावित करने की रिकॉर्डिग टीम ने खुद करवाई है. आयकर की टीम जिस तेजी के साथ सभी व्यापारियों का डाटा जुटा रही है. उससे अनुमान लगाया जा रहा है कि बरेली में दीपावली के पहले एक भी फिर आयकर का छापा पड़ सकता है.

खंडेलवाल बंधुओं के दस्तावेजों होती रही पड़ताल--

खंडेलवाल बंधुओं के जब्त दस्तावेजों की पड़ताल मंडे को की गई. विभागीय सूत्रों के अनुसार खंडेलवाल बंधुओं के जब्त दस्तावेज तीस फाइलों में तैयार किए गए हैं. आयकर के एक अधिकारी ने बताया कि इन सभी दस्तावेजों का मिलान इनके लेजर बुक से किया जाएगा. उसके बाद उनके खातों की भी पड़ताल होगी. लेजर बुक के अनुसार यदि खातों का लेनदेन सही रहा तो ठीक है. नहीं तो उसका भी कर इनसे लिया जाएगा. बताया कि यह पड़ताल एक माह से अधिक समय तक चल सकती है.