मुंबई (रॉयटर्स)। भारत में मौसम खराब होने के कारण कुछ राज्यों में फसलें खराब हो गईं हैं, जिसके चलते बाजार में प्याज काफी महंगा हो गया है। अब भारत सरकार ने रविवार को प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह निर्णय बाजार में प्याज की बढ़ती कीमतों पर काबू पाने के इरादे से लिया गया है। सरकार ने कहा कि निर्यात तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित होगा। कई शहरों में पिछले कुछ ही दिनों में सब्जी के दाम दोगुने हो गए हैं। बताया जा रहा है कि सरकार को मजबूरन प्याज पर बड़ा फैसला लेना पड़ा है क्योंकि इस साल के अंत में कई प्रमुख राज्यों में चुनाव है, इसलिए सरकार सब्जियों की कीमतों को लेकर कोई भी जोखिम नहीं उठाना चाहती है। बता दें कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा प्याज निर्यातक है।

झारखंड में सरकार बिकवाएगी 40 रुपये किलो प्याज

सरकार बफर स्टॉक से निकाल रही है प्याज

गौरतलब है कि प्याज की कीमतों पर काबू पाने के लिए सरकार ने पिछले हफ्ते इसका न्यूनतम निर्यात मूल्य 850 डॉलर प्रति टन तय किया था ताकि निर्यात पर प्रतिबंध लगाने से देश के बाजारों में प्याज की आपूर्ति में कमी नहीं आए। इससे पहले 26 सितंबर को केंद्रीय उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान ने राज्य सरकारों को केंद्रीय बफर से प्याज की खरीदारी करने और उसे 24 रुपए प्रति किलो की खुदरा कीमत पर उपलब्ध कराने का आदेश दिया था। बता दें कि लोगों को राहत देने के लिए सरकार अपने बफर स्टॉक से 50,000 टन प्याज निकाल रही है। देश के कुछ राज्यों में प्याज की कीमत 60 से 80 रुपए प्रति किलो पर पहुंच गया है। भारत सरकार द्वारा उठाए इस कदम का उद्देश्य सिर्फ घरेलू बाजार में प्याज की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाना है।

Business News inextlive from Business News Desk