कानपुर। भारत बनाम बांग्लादेश के बीच तीन मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला गुरुवार को राजकोट में खेला जाएगा। भारत इस सीरीज में 0-1 से पीछे है। ऐसे में कप्तान रोहित की नजर दूसरा मैच जीतकर सीरीज में बराबर आने पर होगी। मगर यह आसान नहीं होगा क्योंकि बांग्लादेश की टीम इस समय बेहतरीन फाॅर्म में है। ऐसे में टीम इंडिया को कड़ी चुनौती मिलने वाली है। मैच से पहले दोनों कप्तानों की नजर पिच पर जरूर होगी। आइए जानें क्या है राजकोट की पिच का मिजाज..

बल्लेबाजों की मददगार होती है पिच

राजकोट के इस मैदान में बल्लेबाजों को हमेशा बैटिंग करने में आसानी रहती है। ऐसे में भारतीय टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज को शामिल किया जा सकता है। अगर संजू सैमसन जैसे तूफानी बल्लेबाज दूसरे टी-20 में प्लेइंग इलेवन का हिस्सा बनता है तो वह बांग्लादेशी गेंदबाजों की जमकर पिटाई कर सकता है। अभी तक हुए यहां दो मुकाबले में हर बार बड़ा स्कोर बना है। एक बार तो दोनों टीमों ने 200 प्लस स्कोर खड़ा किया।

टाॅस जीतने वाला फायदे में

यहां टाॅस की अहम भूमिका रहने वाली है। सौराष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम का पिछला टी-20 इतिहास देखें तो यहां टाॅस जीतने वाला कप्तान मैच भी जीता है। 2013 में भारत ने टाॅस जीता था और मैच अपने नाम किया था। वहीं 2017 में खेले गए दूसरे और आखिरी मैच में कीवी कप्तान ने टाॅस जीता और मैच भी।

इस मैदान पर तीसरा मैच

इस मैदान पर होने वाला टीम इंडिया का यह तीसरा मैच है। इससे पहले भारत बनाम न्यूजीलैंड और भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के के बीच यहां कुल दो मैच खेले जा चुके हैं जिसमें टीम इंडिया को एक में जीत और एक में हार मिली थी।

भारत का अजेय रिकाॅर्ड टूटा

भारत बनाम बांग्लादेश के बीच अभी तक कुल 9 टी-20 मैच खेले गए हैं और पहली बार भारत को दिल्ली में हार मिली। इससे पहले घर हो या बाहर, बांग्लादेश कभी भी क्रिकेट के इस छोटे फाॅर्मेट में टीम इंडिया को शिकस्त नहीं दे पाया था। मगर दिल्ली टी-20 में बांग्लादेश ने भारत को क्रिकेट के इस छोटे फाॅर्मेट में पहली बार हराकर बता दिया कि वह भी किसी से कम नहीं।

भारत की संभावित प्लेइंग इलेवन

रोहित शर्मा, शिखर धवन, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, संजू सैमसन, रिषभ पंत, क्रुणाल पांड्या, वाशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, दीपक चाहर और खलील अहमद।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk