कानपुर। India vs New Zealand 3rd ODI Pitch Report इंडिया वर्सेज न्यूजीलैंड के बीच सीरीज का तीसरा और आखिरी मुकाबला 11 फरवरी यानी कल बे ओवल मैदान पर खेला जाएगा। मेजबान कीवियों ने एकदिवसीय सीरीज में मेहमानों को भले ही चारो-खाने चित्त किया हो मगर बे ओवल में भारत को शिकस्त दे पाना आसान नहीं। यह न्यूजीलैंड का वो मैदान है जहां टीम इंडिया का वनडे में अजेय रिकाॅर्ड रहा है। हालांकि टीम इंडिया के मौजूदा कीवी दौरे पर हमने कई रिकाॅर्ड टूटते देखे और इतिहास बदला है। ऐसे में बे ओवल में उतरने से पहले यहां की पिच और पिछले रिकाॅर्ड के बारे में जरूर जानना चाहिए।

कुल 9 मैच खेले गए है यहां

न्यूजीलैंड के बे ओवल मैदान पर आज तक कुल 9 वनडे खेले गए हैं जिसमें एक मैच को छोड़कर बाकी आठ न्यूजीलैंड ने खेले हैं। हालांकि एक साल से यहां कोई वनडे नहीं खेला गया है। ऐसे में मौजूदा पिच की कंडीशंस कैसी है यह तो खेलने के बाद पता चलेगा। मगर पिछले मैचों का रिकाॅर्ड देखें तो यहां पहले खेलने वाली टीम को ज्यादा फायदा मिला है जबकि चेज करने वाली टीम सिर्फ चार बार जीती है।

पहले खेलते हुए 5 मैच जीते गए

बे ओवल मैदान पर जितने वनडे मुकाबले खेले गए है। सभी पर नजर डालें तो पहले बैटिंग करने वाली टीम के जीतने के चांस ज्यादा रहते हैं। खेले गए कुल 9 मुकाबलों में से 5 मैच फर्स्ट इनिंग में बैटिंग करने वाली टीम ने जीते। इसमें तीन मैच न्यूजीलैंड ने जीते और एक-एक मैच साउथ अफ्रीका और भारत के नाम रहा था।

चेज करना नहीं है आसान

न्यूजीलैंड के इस मैदान पर चेज करना आसान नहीं है। अब तक खेले गए कुल वनडे मैचों में सिर्फ 4 बार चेज करते हुए टीम जीती है। ये चार जीत नीदरलैंड, साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड और भारत को मिली है। 2019 में खेले गए आखिरी वनडे में भी भारत ने लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल की थी। इस मुकाबले में कीवियों ने पहले खेलते हुए 243 रन बनाए थे जवाब में भारत ने 3 विकेट खोकर टारगेट हासिल कर लिया था और 7 विकेट से मैच जीता।

न्यूजीलैंड की सबसे धीमी पिच

माउंट मउनगनई के बे ओवल मैदान की पिच काफी धीमी रहती है। मौजूदा कीवी दौरे पर भारतीय टीम ने पांचवां टी-20 यहीं खेला था। इस मैदान में जैसे-जैसे खेल आगे बढ़ता है पिच स्लो होती जाती है। ऐसे में बाद में बैटिंग करना काफी मुश्किल हो जाता है। यहां टाॅस जीतकर कप्तान पहले बैटिंग करना पसंद करते हैं।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk