इस्लामाबाद (पीटीआई)। आईसीसी वर्ल्डकप 2019 में रविवार को भारत ने पाकिस्तान को 89 रनों से हरा दिया। इस हार से बौखलाए पूर्व पाक तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने पाक कप्तान सरफराज अहमद को 'ब्रेनलेस' कह दिया। अख्तर का कहना है कि, टाॅस से लेकर मैच की आखिरी बाॅल तक सरफराज ने कहीं भी अपने दिमाग का इस्तेमाल नहीं किया। अख्तर कहते हैं, 'मैं नहीं समझ पा रहा कि कोई कप्तान इतना ब्रेनलेस कैसे हो सकता है। सरफराज ने यह क्यों नहीं सोचा कि हम चेज करने में हमेशा से फिसड्डी रहे हैं। विकेट काफी सूखा था, बारिश का इस पर कोई असर नहीं पड़ा। आपको पता है कि आपकी मजबूती गेंदबाजी है न कि बैटिंग।'

हार से बौखलाए शोएब अख्तर ने सरफराज को कहा ब्रेनलेस,माना पाकिस्तान है चेज में फिसड्डी

ब्रेनलेस कप्तानी और घटिया मैनेजमेंट

पाकिस्तान के दिग्गज खिलाड़ियों में एक रहे अख्तर ने ये भड़ास अपने अफिशल यू-ट्यूब चैनल पर निकाली। अख्तर पाक कप्तान की इस बात से नाराज हैं कि उन्होंने टाॅस जीतकर पहले बैटिंग क्यों नहीं की। बता दें पाक कप्तान द्वारा बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर टीम इंडिया ने 336 रन का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा कर दिया। अख्तर मानते हैं कि पाकिस्तान अगर पहले बैटिंग करती तो आज तस्वीर कुछ और होती। वह कहते हैं, 'जब आपने टाॅस जीत लिया तो समझो आधा मैच मुठ्ठी में था। लेकिन आपने किया क्या? आपने पूरी कोशिश की हम मैच न जीते। मैं फिर से कहना चाहूंगा कि ये ब्रेनलेस कप्तानी है और मैनेजमेंट सबसे घटिया।'

पाक चेज में हमेशा रही है फिसड्डी

43 साल के हो चुके शोएब अख्तर मानते हैं कि उनकी टीम कभी भी अच्छी चेज टीम नहीं रही है। शोएब ने पुराने कुछ मैचों को याद करते हुए कहा, 'हम लक्ष्य का पीछा करते हुए हमेशा से खराब रहे हैं। साल 1999 को देख लीजिए हमारी टीम में इंजमाम, युसुफ, सईद अनवर और शाहिद अफरीदी जैसे कई धाकड़ बल्लेबाज थे। इसके बावजूद हम 227 रन चेज नहीं कर पाए। ये सब पता होने के बावजूद जब आप टाॅस जीतते हैं तो पहले बैटिंग करना जरूरी था।'

हार से बौखलाए शोएब अख्तर ने सरफराज को कहा ब्रेनलेस,माना पाकिस्तान है चेज में फिसड्डी

भारत के सामने क्यों खिलाए दो स्पिनर

रावलपिंडी एक्सप्रेस नाम से मशहूर शोएब अख्तर ने पाक बल्लेबाजों की भी आलोचना की। शोएब कहते हैं, 'मैच में सब बिना तैयारी के मैदान में उतरे। इमाम जैसा बल्लेबाज जोकि कवर ड्राइव नहीं लगा पाता उसे ओपनर बना दिया। और जब पहले सोच लिया था कि हम टाॅस जीतकर चेज करेंगे तो एक बल्लेबाज अतिरिक्त खिलाना चाहिए था। मगर कप्तान ने टीम में दो स्पिनर शामिल किए। उन्हें पता होना चाहिए कि भारतीय बल्लेबाज स्पिनर्स को बढ़िया खेलते हैं। मैं पाकिस्तान के इस प्रदर्शन से काफी निराश हूं।'

हसन अली बस बाॅर्डर पर चिल्लाते हैं

यही नहीं अख्तर ने पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हसन अली को भी आड़े हाथों लिया। अख्तर कहते हैं, 'हसन अली जिन्होंने 9 ओवर में 84 रन दे डाले। वे आखिर टीम में क्या कर रहे हैं। अली सिर्फ वाघा बार्डर पर ही चिल्ला पाते हैं, जबकि इस आक्रामकता की जरूरत क्रिकेट मैदान में होती है। अगर आप 6-7 विकेट लेते तो अच्छा लगता, मगर आपने यहां 84 रन लुटा दिए। आखिर इनकी मानसिकता क्या है। ये सिर्फ टी-20 प्लेयर बने रहना चाहते हैं।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk