कानपुर। भारत बनाम साउथ अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला गुरुवार से पुणे में खेला जा रहा। ये मैच टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान विराट कोहली के लिए काफी खास है। पुणे मैदान में उतरते ही विराट कोहली ने सौरव गांगुली के सालों पुराने रिकाॅर्ड को तोड़ दिया। दरअसल विराट का बतौर कप्तान ये 50वां टेस्ट है। इसी के साथ उन्होंने 49 टेस्ट मैचों में कप्तानी करने वाले गांगुली को पीछे छोड़ दिया।

धोनी हैं टाॅप पर
भारत के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट मैचों में कप्तानी करने वाले महेंद्र सिंह धोनी हैं। धोनी इस लिस्ट में टाॅप पर हैं। माही ने भारत के लिए 60 टेस्ट मैचों में कप्तानी की है। धोनी के बाद दूसरा नाम विराट कोहली का आता है। कोहली भी कप्तानी का अर्धशतक लगा चुके। अब उन्हें धोनी से आगे निकलने के लिए 11 टेस्ट मैच और खेलने होंगे।


33 खिलाड़ी बन चुके हैं भारतीय कप्तान

भारत की तरफ से कुल 33 खिलाड़ियों ने टेस्ट मैचों में कप्तानी की है। जिसमें सबसे सफल कप्तान विराट कोहली हैं। कोहली ने सबसे ज्यादा 29 टेस्ट मैच जीते हैं जबकि महेंद्र सिंह धोनी ने 27 टेस्ट मैच अपने नाम किए थे।

कौन था पहला टेस्ट कप्तान

टीम इंडिया ने साल 1932 में पहला टेस्ट मैच खेला था। भारतीय टीम एक टेस्ट मैच की सीरीज खेलने इंग्लैंड गई थी। तब भारतीय टीम की कमान सीके नायडू ने संभाली थी और वह भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान बने। हालांकि पहले मैच में नायडू टीम को जीत तो नहीं दिला पाए मगर पहले कप्तान बनकर अपना नाम जरूर कमा गए। खैर वनडे क्रिकेट की बात करें तो टीम इंडिया के पहले कप्तान अजित वाडेकर थे जिनका इसी साल निधन हो गया। वहीं टी-20 इंटरनेशनल में भारतीय टीम के पहले कप्तान वीरेंद्र सहवाग थे।


कोहली की कप्तानी का ऐसा है रिकाॅर्ड
साल 2014 में एमएस धोनी के टेस्ट से रिटायरमेंट के बाद विराट कोहली को टीम की कमान सौंपी गई थी। पिछले पांच सालों में विराट ने कुल 49 टेस्ट मैचों (पुणे टेस्ट छोड़कर) में कप्तानी की है जिसमें 29 में जीत दर्ज की। वहीं 10 मैच हार गए जबकि 10 मैच ड्रा रहे। विराट की कप्तानी में ही टीम इंडिया टेस्ट में नंबर वन टीम बनी है। यही नहीं विराट को टेस्ट में सबसे ज्यादा 59.18 जीत प्रतिशत है।

 

 

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk

inext-banner
inext-banner