वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिका में भारतीय मूल के प्रभावशाली सांसद एमी बेरा आतंकियों को प्रश्रय देने को लेकर पाकिस्तान से बेहद खफा हैं। उन्होंने आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने पर इस्लामाबाद को कड़ी चेतावनी दी है। उनका कहना है कि पाकिस्तान अगर अपने यहां मौजूद आतंकवादी संगठनों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई नहीं करता है तो वह अंतराष्ट्रीय समुदाय में अलग-थलग ही बना रहेगा।बेरा ने एक अखबार में प्रकाशित लेख में कहा, 'अगर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करते हैं तो अमेरिकी संसद उनका समर्थन करने के लिए खड़ी है। इससे उनके देश की अर्थव्यवस्था भी मजबूत होगी।'

अभिनंदन को सौंप कर पाक ने उठाया सही कदम
चार बार के सांसद बेरा ने 'टाइम फॉर पाकिस्तान टू चार्ट ए न्यू कोर्स' शीर्षक से छपे लेख में लिखा, 'पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन को भारत को सौंपकर सही कदम उठाया। इससे खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका तनाव कम हुआ, लेकिन अभी और कदम उठाने की जरूरत है।' अमेरिकी संसद की विदेश मामलों की निगरानी और जांच उपसमिति के अध्यक्ष बेरा ने चीन से भी अपील की है कि वह भारत और पाकिस्तान के संबंधों को सामान्य बनाने में रचनात्मक भूमिका निभाए। इसके साथ ही उन्होंने चीन से यह भी कहा कि वह पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने की राह में रोड़ा ना बने। बता दें कि चीन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रयास में कई बार अड़ंगा लगा चुका है।

चीन में एआई तकनीक पर आधारित दुनिया की पहली फीमेल रोबोट एंकर ने पढ़ी न्यूज

चीन में सुषमा ने कहा, पाकिस्तान ने दिया जैश-ए-मोहम्मद को छूट, पुलवामा हमला उसी का है नतीजा

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk