-इंडियन ग‌र्ल्स इंटर कॉलेज की टीचर्स ने प्रबंधक के खिलाफ खोला मोर्चा

-डीएम समेत जिले के विभिन्न अधिकारियों के पास पत्र भेजकर की शिकायत

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: इंडियन ग‌र्ल्स इंटर कालेज की प्रिंसिपल और स्कूल प्रबंधक के खिलाफ संगीन आरोप लगाते हुए जिले के आलाधिकारियों ने उनकी शिकायत की. स्कूल की टीचर्स की ओर से 22 अक्टूबर को पत्र लिखकर जिलाधिकारी, डीआईओएस 2, प्रदेश की महिला आयोग, संयुक्त शिक्षा निदेशक और मुख्यमंत्री कार्यालय से शिकायत की है. टीचर्स का आरोप है कि स्कूल प्रबंधक सहदेव मुखर्जी, प्रिंसिपल नीलम भूषण तथा पूर्व प्रिंसिपल सोभा सरकार टीचर्स को आर्थिक, शारीरिक, मानसिक रूप से शोषण कर रहे है. टीचर्स का आरोप है कि स्कूल की प्रिंसिपल अपने रूम में टीचर्स को बुलाती है, जहां पर मौजूद प्रबंधक के पैर छूने के लिए टीचर्स को मजबूर किया जाता है. इतना ही नहीं पैर छूने पर प्रबंधक आर्शीवाद देने के बहाने टीचर्स को छूने का प्रयास करते है. इस कृत्य में प्रिंसिपल व पूर्व प्रिंसिपल भी शामिल रहती है.

छुट्टी के लिए मांगते है कैश अथवा फाइन

स्कूल की टीचर्स ने यह भी आरोप लगया है कि स्कूल की टीचर्स को प्रबंधक की ओर से अक्सर धमकी दी जाती है कि यदि उनकी नाजायज मांगों को पूरा नहीं किया गया तो उन्हें निलंबित कर दिया जाएगा. इतना ही नहीं टीचर्स को आवश्यक छुट्टी भी नहीं दी जा रही है. मातृत्व अवकाश एवं चाइल्ड केयर लीव, मेडिकल लीव इत्यादि संस्तुत करने के एवज में दुराशय से कैश अथवा फाइन के रूप में पेशी मांगी जाती है. अवकाश के दिन भी जबरन स्कूल कर्मचारियों के द्वारा टीचर्स को घर से बुलावाया जाता है. इस प्रकार की प्रताड़ना का सीधा असर स्कूल में स्टूडेंट्स के पठन पाठन पर भी पड़ रहा है. शिकायत दर्ज कराने वाली टीचर्स में एकता सिंह, रेनू यादव, सारिका जैसमीन पॉल, अर्चना, प्रतिभा सिंह, प्रभा त्रिपाठी, समेत कुल 16 टीचर्स शामिल है.

मामला अभी मेरे संज्ञान में नहीं है. अगर ऐसे मामले की जानकारी होती है तो उसकी जांच करायी जाएगी. इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी.

-देवी सहाय तिवारी, डीआईओएस 2

कई दिनों से स्कूल प्रबंधक और प्रिंसिपल प्रताडि़त किया जाता है. पूर्व प्रिंसिपल भी प्रबंधक के साथ मिलकर परेशान करती है. लगातार टीचर्स के साथ मिस बिहैव किया जाता है.

-रेनू, शिक्षिका, इंडियन ग‌र्ल्स इंटर काले

स्कूल में आर्थिक व मानसिक रूप से प्रताडि़त किया जाता है. मेडिकल के लिए पैसे मांगे जाते है. सीएल भी बेइज्जत करके दिया जाता है. प्रबंधक

-अल्फा दास, शिक्षिका, इंडियन ग‌र्ल्स इंटर कालेज