बेंगलुरू (आईएएनएस)। भारत सरकार ने सुरक्षा कारणों के मद्देनजर टिकटाॅक सहित 59 चाइनीज एप को बैन कर दिया है। अन्य एप्लीकेशन को लेकर यूजर्स उतने परेशान नहीं है, जितने टिकटाॅक बैन होने से। टिकटाॅक काफी लोकप्रिय एप था। मगर इसके बैन होने के बाद एप स्टोर पर इसी के जैसा 'चिंगारी' एप उपलब्ध है जिसे भारतीयों ने बनाया है। सोमवार शाम से अब तक चिंगारी एप को एक लाख से अधिक लोग डाउनलोड कर चुके हैं। वहीं हर घंटे 2 मिलियन से अधिक बार इसके वीडियो देखे जा रहे। अब तक कुल 30 लाख लोग इस एप्लीकेशन को डाउनलोड कर चुके हैं।

किसने बनाया है चिंगारी एप

चिंगारी एप भारत में बना है। इसे पिछले साल बेंगलुरू बेस्ड प्रोग्रामर विश्वाआत्मा नायक और सिद्धार्थ गौतम ने बनाया था। टिकटाॅक बैन की खबरों के बाद, चिंगारी एप गूगल प्ले स्टोर पर टाॅप ट्रेंड में बना है। एप्लीकेशन मेकर नायक कहते हैं, 'भारतीयों के पास अब टिकटॉक का एक घरेलू और अधिक मनोरंजक विकल्प है, हम अपने एप पर उम्मीदों से परे ट्रैफिक रिकॉर्ड कर रहे हैं। चिंगारी नए बेंचमार्क सेट कर रहा है, बहुत सारे निवेशक हमारे एप में रुचि दिखा रहे हैं।' इंडस्ट्रियलिस्ट आनंद महिंद्रा जिन्होंने कभी टिकोटोक का इस्तेमाल नहीं किया, उन्होंने भी चिंगारी डाउनलोड किया और ट्वीट कर इसे काफी बेहतर बताया।

कैसे करता है काम

टिकटॉक की तरह चिंगारी एप को आप फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं। यूजर्स इस प्लेटफाॅर्म पर वीडियो देख सकते हैं और अपलोड भी कर सकते हैं। यूजर्स साइन अप किए बिना, ऊपर या नीचे स्क्रॉल करके वीडियो देख सकते हैं। हालांकि, उपयोगकर्ताओं को वीडियो को लाइक करने या अपलोड करने के लिए लॉगिन करना आवश्यक है। इसके अतिरिक्त, एप कई भाषाओं में उपलब्ध है, जिसमें अंग्रेजी, हिंदी, बंगला, गुजराती, मराठी, कन्नड़, पंजाबी, मलयालम, तमिल और तेलुगु शामिल हैं।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Technology News inextlive from Technology News Desk