नई दिल्ली (एएनआई/आईएएनएस) 90 के दशक की महाभारत व रामायण को दोबारा टीवी पर दिखाया जाना है। सूचना एवं प्रसारणमंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एएनआई से कहा, 'मैं बहुत खुश हूं ये अनाउंस करने के लिए कि पब्लिक की डिमांड पर हम 90 के दशक की रमायण को कल से टीवी पर प्रसारित कर रहे हैं, शनिवार को यानि कि 28 मार्च से। इसे डीडी नेशनल पर सुब 9 बजे से 10 बजे के बीच और शाम को 9 बजे से 10 बजे के बीच टीवी पर ब्राॅडकास्ट किया जाएगा।'

जल्दी मिलेगी जानकारी

अपने ऑफीशियल ट्विटर हैंडल पर इस बारे में खुलासा करते हुए शेखर ने ये भी बताया कि वे जल्दी ही इस बारे में पूरी जानकारी सार्वजनिक करेंगे। रामायण और महाभारत के री टेलिकास्ट के बारे में बातें उस समय शुरू हुईं जब प्रधानमंत्री के लॉकडाउन की घोषणा के बाद घर में रहते हुए लोगों ने सोशल मीडिया पर इन शौज की पाप्युलैरिटी के बारे में चर्चा करते हुए इन्हें फिर देशने की इच्छा जाहिर की।

खुद ही घरों में कैद हो जाते थे

लोगों ने सोशल मीडिया पर पीएम और मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर को बताया कि जब नेशनल दूरदर्शन पर हर रविवार इन धारावाहिकों का टेलिकास्ट होता था तो पूरा देश अपने आप ही घरों में रहता था और सड़कों पर सन्नाटा हो जाता था। इन मैसेजेस में इस बात को ध्यान में रखते हुए रिक्वेस्ट की गई कि लॉकडाउन के दौरान लोगों को घरों में रोके रखने के लिए एक बार फिर दूरदर्शन और दूसरे दीवी चैनल्स पर इनके प्रसारण की व्यवस्था होनी चाहिए।

घर में रुकेंगे लोग

अनुरोध करने वालों का मानना है कि ये सीरियल लोगों को घर में रोकने के लिए मैग्नेट की तरह काम करेंगे। इसीलिए हर दिन रामानंद सागर के धारावाहिक रामायण और बीआर चोपड़ा के धारावाहिक महाभारत के कम से कम दो एपिसोड टेलिकास्ट होने चाहिए। कुछ यूजर्स का ये भी मानना है कि तनाव से भरे दौर में ये माइथलॉजिकल शोज स्ट्रेस बस्टर की तरह काम करके लोगों को मानसिक शांति देंगे।

Posted By: Satyendra Kumar Singh

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk