- तीन दिन में जांच कमेटी देगी रिपोर्ट

- अस्पताल में समस्याओं का अंबार

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: वीरांगना अवंती बाई महिला चिकित्सालय (डफरिन) में रविवार को बाथरूम में प्रसव और परिजनों से अभद्रता के मामले में तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की गई है. डॉ. साधना सक्सेना की अध्यक्षता में डॉ. संगीता व डॉ. मोहित की तीन सदस्यी टीम तीन दिन में जांच रिपोर्ट देगी. रिपोर्ट में दोषी डॉक्टर कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी. इसके अलावा वसूली के आरोप में गार्ड अश्वनी पांडेय को अस्पताल से हटा दिया गया है.

समस्याओं का अंबार

डफरिन अस्पताल में समस्याओं का अंबार है. सेामवार को पीने के पानी की समस्याओं से मरीज और परिजन जूझते नजर आए. शौचालयों में सुबह आठ बजे के बाद से पानी ही नही आया. उधर पीने का पानी भी 12 बजे से खत्म हो गया. इसके अलावा वार्डो में कूलर तो लगे थे लेकिन खराब होने कारण मरीज बेहाल रहे. अस्पताल में भर्ती मरीजों के तीमारदारों ने आरोप लगाया कि अस्पताल में हर कदम पर वसूली की जा रही है.

तड़पती रही प्रसूताएं नहीं आई डॉक्टर

डिलीवरी के लिए आने वाली महिलाओं की समस्या कम होने का नाम नहीं ले रही. मोहनलालगंज निवासी अनुपम की पत्‍‌नी आरती मिश्रा को सेामवार को ही सीएचसी मोहनलालगंज से डफरिन रेफर किया गया था. स्वयं सीएमएस डॉ. मंजुल बहार ने ओपीडी से मरीज को देखा और लेबर पेन के कारण सिजेरियन ऑपरेशन के लिए भर्ती कर लिया. लेकिन दोपहर में एक बजे भर्ती होने के बाद देर रात तक कोई डॉक्टर देखने नहीं आई. लेबर रूम में आरती के अलावा पांच अन्य महिलाएं भी लेबर पेन के कारण तड़पती रही लेकिन शिकायत के बावजूद कोई नहीं पहुंचा.