बहरिया में मिला था बेहोश, इलाज के दौरान 19 नवंबर को हुई थी मौत

हत्या की आशंका पर परिजनों ने की पोस्टमार्टम कराने की मांग, सिर पर चोट से हुई थी मौत

PRAYAGRAJ: फाफामऊ कछार में दफनाए गए अवध नारायण पटेल (28) के शव को करीब सवा महीने बाद कब्र से खोद कर वीडियो रिकार्डिग के साथ पोस्टमार्टम कराया गया. दफनाने के कुछ दिन बार परिजनों को उसकी हत्या किए जाने की आशंका हुई. उनकी मांग पर फूलपुर तहसीलदार की मौजूदगी में डेड बॉडी कब्र से निकाली गई. पोस्टमार्टम बाद बताया गया कि उसकी मौत सिर पर चोट लगने से हुई थी. पूरी बॉडी पर और कहीं कोई निशान नहीं थे.

पड़ी हुई चप्पल देख हुई शंका

बहरिया थाना क्षेत्र के सराय सुल्तादन निवासी अवध नारायण पटेल पुत्र सूर्यनारायण पटेल तीन भाइयों व दो बहनों में सबसे बड़ा था. बताते हैं कि 17 नवंबर को उसे किसी ने फोन कर बुलाया था. वह बाइक लेकर निकला तो दोपहर बाद खबर आई कि उसका एक्सीडेंट हो गया है. वह बहरिया चौराहे के पास बेहोश पड़ा है. मौके पर पहुंचे परिजनों ने अस्पताल में भर्ती करा दिया. इलाज के दौरान 19 तारीख को उसकी मौत हो गई. परिजनों ने फाफामऊ कछार में उसे दफना दिया. कुछ दिन पहले परिजन व प्रधान थाने से लौट रहे थे. रास्ते में बिगहिया कॉलोनी के पास उसकी चप्पल दिखाई दी. इस पर परिजनों को हत्या की आशंका हुई. वह अधिकारियों के पास शव को कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम कराए जाने की मांग करने लगे. अधिकारियों ने उनकी मांग पर पोस्टमार्टम कराए जाने का आदेश दिया. उनके आदेश पर फूलपुर तहसीदार की मौजूदगी में शव को कब्र खोद कर बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम करया गया. अब पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है. परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी. इस पर अफसरों के आदेश का अनुपालन किया गया. अब यदि वे कोई तहरीर देंगे तो आगे जांच की जाएगी.

संजय कुमार सिंह, इंस्पेक्टर बहरिया