नई दिल्ली (जेएनएन)। चेन्नई की पिच को महेंद्र सिंह धौनी (नाबाद 37) से अच्छा कोई नहीं समझ सकता। किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ शनिवार को जब अच्छी शुरुआत के बाद चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) ने 100 रन के भीतर तीन विकेट गंवा दिए थे, तो कप्तान धौनी को पता था कि इस पिच पर 150 से 160 रनों का लक्ष्य चुनौतीपूर्ण साबित हो सकता है। ऐसे में धौनी ने अंबाती रायुडू (नाबाद 21) के साथ मिलकर 38 गेंद में 60 रन की अटूट साझेदारी करके अपनी टीम को 20 ओवर में तीन विकेट पर 160 रन तक पहुंचाया। इसके बाद सीएसके ने पंजाब को पांच विकेट पर 138 रन पर रोककर यह मुकाबला 22 रनों से जीत लिया।

बल्लेबाजों से आक्रामक शुरुआत की उम्मीद

लक्ष्य का पीछा करने उतरी पंजाब को एक बार फिर अपने सलामी बल्लेबाजों से आक्रामक शुरुआत की उम्मीद थी, लेकिन अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने अपने पहले ही ओवर में पंजाब की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। हरभजन ने मेडन ओवर फेंकते हुए चोट के बाद वापसी कर रहे क्रिस गेल (05) और अगली ही गेंद पर मयंक अग्रवाल (00) को चलता कर दिया। दो विकेट खोकर पंजाब की लड़खड़ाई पारी को केएल राहुल (55) और सरफराज खान (67) ने संभाला। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 110 रन जोड़कर सीएसके को थोड़ा मुश्किल में जरूर डाला।

पंजाब की यह पांच मैचों में दूसरी हार

आखिरी 18 गेंद में पंजाब को 46 रन की जरूरत थी। धौनी ने अपनी चतुराई भरी कप्तानी दिखाई और स्कॉट कुग्गेलेन को आक्रमण पर लगा दिया। स्कॉट ने निराश नहीं करते हुए राहुल का विकेट निकाल लिया। इसके बाद दीपक चाहर ने अगले ओवर में डेविड मिलर को (06) को आउट कर दिया। यहां से सरफराज ने जिताने की पूरी कोशिश की, लेकिन वह विफल रहे। चेन्नई की यह पांच मैचों में चौथी जीत है, जबकि पंजाब की यह पांच मैचों में दूसरी हार है।

चेन्नई को धीमी लेकिन सधी हुई शुरुआत मिली

इससे पहले चेन्नई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। चेन्नई को धीमी लेकिन सधी हुई शुरुआत मिली थी और उम्मीद थी कि अंत में वह एक मजबूत स्कोर तक पहुंचाएगी, लेकिन रविचंद्रन अश्विन ने तीन विकेट लेकर उसकी लय खराब कर दी और चेन्नई बड़ा स्कोर नहीं कर पाई। रविचंद्रन अश्विन के अलावा चेन्नई का कोई और गेंदबाज विकेट नहीं ले सका। उन्होंने फाफ डुप्लेसिस (54) और शेन वॉटसन (26) के बीच पहले विकेट के लिए हुई 56 रनों की साझेदारी को तोड़ा। वॉटसन, अश्विन का पहला शिकार बने। इस सत्र का अपना पहला आइपीएल मैच खेल रहे डुप्लेसिस दूसरे छोर से रन बना रहे थे। अर्धशतक पूरा करने के बाद वह अश्विन का दूसरा शिकार बने।

IPL 12 : 5 मैच हारकर भी प्लेऑफ में पहुंच सकती है RCB, जानिए कैसेदो चौके और चार छक्कों की मदद से अर्धशतकीय पारी

डुप्लेसिस का विकेट 100 के कुल योग पर गिरा। उन्होंने 38 गेंदों पर दो चौके और चार छक्कों की मदद से अर्धशतकीय पारी खेली। डुप्लेसिस के जाने के बाद अश्विन ने अगली ही गेंद पर सुरेश रैना (17) को भी पवेलियन भेज दिया। सीएसके का बड़े स्कोर तक पहुंचना मुश्किल लग रहा था, लेकिन महेंद्र सिंह धौनी और अंबाती रायुडू ने चौथे विकेट के लिए 60 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को सम्मानजनक स्कोर दिलाया। धौनी ने 23 गेंदों पर चार चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 37 रनों की पारी खेली। वहीं रायुडू ने 15 गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 21 रन बनाए।

Posted By: Shweta Mishra