कानपुर। Exclusive No Ball Umpire in IPL 2020 इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के अगले सीजन के लिए खिलाड़ियों की नीलामी 19 दिसंबर को होनी है। आईपीएल कमेटी इस बार के सीजन को थोड़ा और रोचक बनाना चाह रही है। यही वजह है कि आईपीएल 2020 में एक बड़ा बदलाव होने वाला है। इस बार आईपीएल में मैच के दौरान एक 'नो बाॅल अंपायर' रखा जाएगा। आईपीएल कमेटी नो-बॉल की निगरानी के लिए एक विशेष टीवी अंपायर रखने की योजना बना रहा है। यह समझा जाता है कि यह अतिरिक्त मैच अधिकारी तीसरे और चौथे अंपायरों से अलग होगा और टेक्नोलाॅजी का उपयोग कर ऑन-फील्ड अधिकारियों को नो-बॉल की निगरानी करने में मदद करेगा।

कम होगी ऑन-फील्ड अंपायरों की गलती

ऑन-फील्ड अंपायरों द्वारा की जाने वाली गलतियो को कम करने के लिए टेक्नोलाॅजी का अधिक उपयोग करने का डिसीजन नई आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने लिया है। इस कमेटी के नए अध्यक्ष भारत के पूर्व बल्लेबाज बृजेश पटेल हैं। मंगलवार को मुंबई में एक बैठक में कमेटी के सभी सदस्य शामिल हुए। एक गवर्निंग काउंसिल के सदस्य ने पुष्टि की कि वे पहले एक घरेलू टूर्नामेंट में इस अतिरिक्त अंपायर की कोशिश कर रहे थे। शुक्रवार को शुरू होने वाले सैयद मुश्ताक अली टी 20 टूर्नामेंट के बाद अगले महीने रणजी ट्रॉफी के साथ, अधिकारी ने कहा कि नए विचारों को टूर्नामेंट में से किसी में भी आजमाया जा सकता है।

2019 में हुआ था काफी विवाद

आईपीएल में अंपायरिंग मानकों पर विचार को लेकर खिलाड़ी और टीम काफी समय से अपनी बात रखते आए हैं। साल 2018 में टूर्नामेंट में जहां डीआरएस की शुरूआत हुई। वहीं 2019 में भारत के दो सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी - विराट कोहली और एमएस धोनी विवादास्पद नो-बॉल निर्णयों को लेकर मैच में मैदानी अंपायर से भिड़ते नजर आए थे। कोहली ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच के बाद एक मिस नो-बॉल अवसर को "हास्यास्पद" कहा, जब रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को अंतिम गेंद पर सात रन चाहिए थे और शिवम दूबे केवल एक ही रन बना पाए। बड़े पर्दे पर टीवी रीप्ले ने बाद में दिखाया कि लसिथ मलिंगा ने ओवरस्टेप किया था जिसे नो-बॉल दिया जाना था। मगर ऐसा नहीं हुआ।

मैदान में घुस आए थे धोनी

कोहली ने मैच के बाद तब प्रेस कांफ्रेंस में कहा था, "हम आईपीएल के स्तर पर खेल रहे हैं, क्लब क्रिकेट में नहीं। यह आखिरी गेंद पर एक हास्यास्पद कॉल है। अंपायरों को अपनी आँखें खुली रखनी चाहिए।" टूर्नामेंट में इससे पहले, चेन्नई सुपर किंग्स बनाम राजस्थान रॉयल्स मैच में धोनी ने नो बाॅल को लेकर बड़ा विवाद खड़ा किया था। तब माही डग आउट में बैठे थे और अंपायर से लड़ने मैदान में घुस आए थे। यह घटना सुपर किंग्स के चेस के अंतिम ओवर में हुई, जिसमें विजयी टीम को जीत के लिए 18 रन चाहिए थे।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk