मुंबई (पीटीआई)। आईपीएल 2021 का दूसरा मैच दिल्ली कैपिटल्स बनाम चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला जाएगा। यह गुरु और शिष्य की लड़ाई है। दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से रिषभ पंत अगुआई करेंगे जबकि चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से एमएस धोनी मैदान में आएंगे। शनिवार को दोनों टीमें जब वानखेड़े में सीजन का अपना पहला मैच खेलेंगी तो उन्हें जीत की उम्मीद होगी। यह मुकाबला टक्कर का होने वाला है। डीसी के पास एक से बढ़कर बल्लेबाज अौर गेंदबाज हैं जबकि सीएसके सबसे अनुभवी टीम है।

कौन मारेगा बाजी
दिल्ली कैपिटल्स की टीम संयुक्त अरब अमीरात में खेले गए पिछले सीजन में रनर अप रही थी। इस बार वह एक कदम और आगे बढ़ने की कोशिश करेंगे। तीन बार की चैंपियन सीएसके का पिछले साल एक भूलने वाला सीजन था, जिसमें आठ टीमों में से सातवें स्थान पर रही और वे आईपीएल 2020 के खराब प्रदर्शन को इस बार भुलाने की कोशिश करेंगे। कीपर-बल्लेबाज रिषभ पंत चोटिल श्रेयस अय्यर की अनुपस्थिति में डीसी की कप्तानी करेंगे। पंत ने हाल ही में कहा था कि कप्तान के रूप में मेरा पहला मैच माही भाई (एमएस धोनी) के खिलाफ होगा। यह मेरे लिए अच्छा अनुभव होगा क्योंकि मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है।

ये है दिल्ली कैपिटल्स की ताकत
दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, अजिंक्य रहाणे, स्टीवन स्मिथ और रिषभ पंत बल्लेबाजी को मजबूती प्रदान करेंगे। आईपीएल 2020 में शिखर धवन (618 रन) दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे और इंग्लैंड के खिलाफ हालिया वनडे सीरीज में अच्छे टच में दिखे। वह इस सीजन की शुरुआत करने को लेकर काफी एक्साइटेड हैं। विजय हजारे ट्रॉफी में 827 रन बनाने के बाद पृथ्वी शॉ इस सीजन धमाकेदार बल्लेबाजी करना चाहेंगे। उम्मीद है कि धवन और शाॅ ओपनिंग करेंगे।

डीसी के पास जीतने के चांस
दिल्ली की टीम के पास ऑलराउंडर मार्कस स्टोनिस, शिमरोन हेटिमार और सैम बिलिंग्स भी हैं, लेकिन उन्हें अपनी टीम के संयोजन को सही करना होगा, क्योंकि केवल चार विदेशी खिलाड़ी ही प्लेइंग इलेवन में खेल सकते हैं। उनके पास ईशांत शर्मा, कगिसो रबाडा, उमेश यादव, क्रिस वोक्स और एनरिक नार्जे सहित पेसर्स का पर्याप्त विकल्प हैं। भले ही रबाडा और नॉर्टजे शुरुआती मैचों में नहीं खेल पाएंगे लेकिन कुछ दिन पहले ही वह टीम में शामिल हुए, डीसी के पास गेंदबाजी विभाग में पर्याप्त क्षमता और अनुभव है।

अनुभवी सीएसके भी कम नहीं
दूसरी ओर, चेन्नई में अनुभवी बल्लेबाज सुरेश रैना की वापसी होगी, जो 5,368 रन बनाने के साथ टाॅप रन-स्कोरर में शामिल हैं। रैना शीर्ष क्रम को मजबूत करेंगे, जिसमें युवा रुतुराज गायकवाड़, दक्षिण अफ्रीकी फाफ डू प्लेसिस और अंबाती रायडू हैं। युवा सैम करन टीम में मजबूती प्रदान करेंगे। मोईन अली के साथ-साथ फिनिशर धोनी एक बार फिर अपना जलवा दिखाने को तैयार हैं। सीएसके के गेंदबाजी आक्रमण की अगुवाई शार्दुल ठाकुर करेंगे, जो बल्लेबाजी भी कर सकते हैं और दीपक चाहर भी हैं। और फिर रवींद्र जडेजा हैं, जो बाएं हाथ के स्पिनर हैं, जो बल्ले से भी योगदान दे सकते हैं।