मेलबर्न (पीटीआई)। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एलन बाॅर्डर का कहना है कि, आईपीएल सिर्फ एक 'पैसा कमाने का खेल' है और इस साल के टी 20 विश्व कप पर उसे वरीयता नहीं देनी चाहिए। कयास लगाए जा रहे हैं कि कोविड ​​-19 महामारी के कारण 13 वें आईपीएल को अनिश्चित काल के लिए निलंबित कर दिया गया था, अगर ऑस्ट्रेलिया में टी 20 विश्व कप स्थगित कर दिया जाता है तो अक्टूबर-नवंबर में आयोजित किया जा सकता है। इसको लेकर एबीसी के ग्रैंडस्टैंड कैफे रेडियो कार्यक्रम में बाॅर्डर ने कहा, '(मैं) इससे खुश नहीं हूं। विश्व खेल को स्थानीय प्रतिस्पर्धा पर वरीयता नहीं देनी चाहिए। इसलिए, विश्व टी 20, अगर वह आगे नहीं बढ़ सकता है, तो मुझे नहीं लगता कि आईपीएल आगे बढ़ सकता है। मैं इस निर्णय पर सवाल खड़े करूंगा। यह सिर्फ पैसा कमाने का खेल है।'

विदेशी खिलाड़ी न लें हिस्सा

आईपीएल को लेकर एलन बाॅर्डर की नाराजगी यहीं नहीं थमी। उन्होंने घरेलू बोर्डों को अपने खिलाड़ियों को आईपीएल में न जाने के लिए कहा। बता दें इस बार आईपीएल नीलामी में विदेशी खिलाड़ियों पर जमकर पैसा बरसा था। 15.50 करोड़ के साथ ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस लीग में सबसे अधिक भुगतान पाने वाला गैर-भारतीय खिलाड़ी है। वहीं ग्लेन मैक्सवेल और डेविड वार्नर जैसे दिग्गज खिलाड़ियों को फ्रेंचाइजी मोटी रकम देती हैंं।

भारत की चलती है आईसीसी में

आईसीसी के राजस्व में भारत का बड़ा हिस्सा होता है। इससे इनकार कोई नहीं कर सकता। लेकिन आईपीएल ने टी 20 विश्व कप पर वरीयता ले ली, तो यह "गलत रास्ते पर जाना" होगा। इसको लेकर बाॅर्डर कहते हैं, 'आप जानते हैं, भारत खेल चला रहा है। वे अब इसके बहुत करीब हैं, लेकिन मुझे लगता है कि यदि आप वैश्विक (क्रिकेट) आय के 80 प्रतिशत के लिए जिम्मेदार हैं, तो आप सबकुछ नहीं कर सकते। लेकिन मुझे लगता है कि विश्व खेल ऐसा करने की अनुमति नहीं दे सकते।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk

inext-banner
inext-banner