दुबई (रॉयटर्स)। ईरान ने मंगलवार को कहा कि उसने यूक्रेनी विमान को मार गिराने में भूमिका निभाने वाले लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा विरोध प्रदर्शन में शामिल 30 लोगों को भी हिरासत में लिया है, जिन्होंने चार दिनों तक देश भर में उत्पात मचाया है। यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइंस की फ्लाइट 752 को बुधवार को मार गिराया गया था, जिसमें सवार सभी 176 लोग मारे गए। इस दुर्घटना ने ईरान के लिए एक नया संकट खड़ा कर दिया है। राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार को एक संबोधन में इस मामले की गहन जांच का वादा किया है। ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी ने भी इस मामले को लेकर ईरान पर कूटनीतिक दबाव बढ़ा दिया है। अमेरिका ने 3 जनवरी को ड्रोन हमले में ईरान के सबसे शक्तिशाली सैन्य कमांडर को मार दिया था, इसके बाद से तेहरान को पश्चिम के साथ एक टकराव और अशांति की लहर का सामना करना पड़ा है।

Iran Ukraine Plane Probe: ईरान का कबूलनामा, सेना ने गलती से मार गिराया गया यूक्रेनी विमान

टेकऑफ करने के 30 सेकंड बाद विमान पर दागी गईं दो मिसाइलें

ईरान ने बुधवार को उस समय विमान को मार गिराया, जब उसकी सेना इराक में अमेरिकी ठिकानों पर मिसाइल दागने के घंटों बाद हाई अलर्ट पर थी। कई बार इनकार के बाद उसने अपनी गलती स्वीकार कर ली। न्यूयॉर्क टाइम्स ने मंगलवार को अपनी रिपोर्ट में बताया कि कैमरा फुटेज में दो मिसाइलों को दिखाया गया है, जो टेकऑफ करने के 30 सेकंड बाद विमान को मार गिराते हैं। अमेरिकी खुफिया अधिकारियों ने 9 जनवरी को कहा कि विमान के पास सतह से हवा में मार करने वाली दो मिसाइलों के हीट सिग्नेचर का पता चला।वहीं, एक व्यक्ति जिसने पिछले हफ्ते एक मिसाइल को विमान से मारते हुए एक वीडियो ऑनलाइन पोस्ट किया था, उसे रेवोलुशनरी गार्ड ने हिरासत में ले लिया गया है। इसके अलावा, ईरानी न्यायपालिका के प्रवक्ता घोलामहुसैन इस्माइली ने कहा कि विमान दुर्घटना में भूमिका निभाने वाले आरोपियों में से कुछ को गिरफ्तार कर लिया गया है, हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि कितने हैं या कौन हैं।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk