- एक जून की 100 जोड़ी ट्रेनों का खुल गया रिजर्वेशन

- पूर्वांचल और बिहार की ट्रेनों की वेटिंग पहुंची सातवें आसमान

रुष्टयहृह्रङ्ख : रेलवे एक जून से जो 100 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलाएगा। उनका रिजर्वेशन गुरुवार सुबह खुल गया। फीडिंग में तकनीकी दिक्कत के कारण आइआरसीटीसी की वेबसाइट पर शुरुआती 30 मिनट में यात्री खासे परेशान रहे। हालांकि जब वेबसाइट ठीक हुई तो वेटिंग अपने उफान पर आ गई। एक से तीन जून की लखनऊ मेल और पुष्पक स्पेशल जैसी ट्रेनों की स्लीपर व एसी की सीटें भर गईं। बिहार जाने वाली कामगारों की पसंदीदा ट्रेन शहीद एक्सप्रेस स्पेशल की वेटिंग 400 का आंकड़ा पार कर गई।

शहीद एक्सप्रेस में वेटिंग 531 तक पहुंची

अमृतसर से जयनगर जाने वाली शहीद एक्सप्रेस की स्लीपर क्लास की अधिकतम वेटिंग 531 तक पहुंच गई। इस ट्रेन की अगले तीन सप्ताह तक की सीटें फुल होकर वेटिंग 100 के आंकड़े से अधिक हो गई। थर्ड एसी की वेटिंग भी 151 तक रही। वहीं दो जून की सेकेंड एसी रिग्रेट हो गई। आनंद विहार से गाजीपुर जाने वाली सुहेलदेव एक्सप्रेस स्पेशल की स्लीपर की वेटिंग 100 तो एसी थर्ड व एसी सेकेंड की सीटें भी चंद सेकेंड में भरने के बाद वेटिंग आ गई।

गोमती में भी वेटिंग

दो जून को गोमती एक्सप्रेस स्पेशल की सेकेंड सीटिंग क्लास में 41 वेटिंग पहुंच गई। चेयरकार में पांच जून और सेकेंड एसी में सात जून तक कंफर्म सीटें नहीं हैं। लखनऊ मेल स्पेशल में दो जून को स्लीपर क्लास की डिमांड सबसे अधिक है। तीन से छह जून तक आएसी फिर सीट उपलब्ध हैं। एसी थर्ड में दो व तीन को आरएसी है। मुंबई से पुष्पक स्पेशल तीन जून से चलेगी। स्लीपर और एसी दोनों ही क्लास की सीटें फुल हो गयी हैं। हालांकि ट्रेन में 10 जून के बाद आरएसी शुरू हो गयी है। मुंबई से गोरखपुर जाने वाली एलटीटी गोरखपुर सुपरफास्ट स्पेशल और कुशीनगर स्पेशल में स्लीपर क्लास में नौ जून तक अधिक रिजर्वेशन के कारण वेटिंग हो गयी है। हालांकि 10 से इन ट्रेनों में भी आरएसी आ गयी है। वहीं गोरखधाम एक्सप्रेस का आरक्षण भी देर शाम तक नहीं खुल सका।

------------

नहीं चलीं एसी व शताब्दी

दो वीआइपी ट्रेनें एसी एक्सप्रेस और शताब्दी एक्सप्रेस नहीं शुरू हो सकी है। इसके अलावा कारपोरेट सेक्टर की पहली ट्रेन तेजस एक्सप्रेस और मुंबई जाने वाली लखनऊ एलटीटी एसी सुपरफास्ट को भी शुरू नहीं किया गया है।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner