features@inext.co.in  

KANPUR: इंडियन फिल्म इंडस्ट्री के सबसे बेहतरीन एक्टर्स में से एक इरफान खान, जो इस वक्त लंदन में न्यूरो इंडोक्राइन ट्यूमर का इलाज करा रहे हैं, के लिए एक अच्छे खबर आई है कि उनकी और बांग्लादेशी फिल्ममेकर मुस्तफा सरवर फारूकी की मूवी नो बेड ऑफ रोजेस(बंगाली में डूब) बांग्लादेश की ओर से ऑस्कर अवॉर्ड्स की ऑफीशियल एंट्री बन गई है। इरफान ने इस मूवी में एक्टिंग करने के साथ-साथ इसे प्रोड्यूस भी किया है। 
पहले बांग्लादेश में हो गई थी बैन 
इस मूवी की कहानी लेट बांग्लादेशी राइटर-फिल्ममेकर हुमांयू अहमद की जिंदगी पर बेस्ड है, जो अपनी 27 साल चली शादी तोड़कर खुद से 33 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ शादी के बंधन में बंध गए थे। हालांकि, फिल्ममेकर ने इसके बायोपिक होने से इंकार कर दिया था। इस मूवी को पहले बांग्लादेश में बैन कर दिया गया था पर बाद में इसे वहां रिलीज कर दिया गया। 


features@inext.co.in  

See Also

KANPUR: इंडियन फिल्म इंडस्ट्री के सबसे बेहतरीन एक्टर्स में से एक इरफान खान, जो इस वक्त लंदन में न्यूरो इंडोक्राइन ट्यूमर का इलाज करा रहे हैं, के लिए एक अच्छे खबर आई है कि उनकी और बांग्लादेशी फिल्ममेकर मुस्तफा सरवर फारूकी की मूवी नो बेड ऑफ रोजेस(बंगाली में डूब) बांग्लादेश की ओर से ऑस्कर अवॉर्ड्स की ऑफीशियल एंट्री बन गई है। इरफान ने इस मूवी में एक्टिंग करने के साथ-साथ इसे प्रोड्यूस भी किया है। 

पहले बांग्लादेश में हो गई थी बैन 

इस मूवी की कहानी लेट बांग्लादेशी राइटर-फिल्ममेकर हुमांयू अहमद की जिंदगी पर बेस्ड है, जो अपनी 27 साल चली शादी तोड़कर खुद से 33 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ शादी के बंधन में बंध गए थे। हालांकि, फिल्ममेकर ने इसके बायोपिक होने से इंकार कर दिया था। इस मूवी को पहले बांग्लादेश में बैन कर दिया गया था पर बाद में इसे वहां रिलीज कर दिया गया। 

ये भी पढ़ें: दादी कसम खा आमिर ने खुद को बताया धरती का नेक इंसान, जानें पूरा मामला 

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk