तेल अवीव (एएनआई)। इजराइल में भारतीय दूतावास के काउंसेलर मुअनपुई सियावी ने बताया है कि इजराइल की शराब कंपनी ने अपनी शराब की बोतलों पर महात्मा गांधी की तस्वीर का इस्तेमाल करने के लिए माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि कंपनी ने बोतलों का उत्पादन भी बंद कर दिया है। सियावी ने कहा, 'शराब की कंपनी ने अपने करतूत पर मांफी मांगी है। इसके साथ उन्होंने यह भी जानकारी दी है कि उनका इरादा किसी को ठेस पहुंचाने का नहीं बल्कि बापू को सम्मना देना था। अब आगे से बोतल का उत्पादन नहीं किया जायेगा।

आज ही के दिन महात्मा गांधी को दक्षिण अफ्रीका में टिकट होने के बावजूद धक्के मारकर ट्रेन से उतारा गया

बापू का बनाया गया मजाक
बता दें कि जब महात्मा गांधी नेशनल फाउंडेशन के चेयरमैन ईबी जे जोस द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इजराइल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू को लिखे गए एक पत्र के बाद  यह मामला प्रकाश में आया था। अपने पत्र में उन्होंने यह लिखा था कि टेकन इंडस्ट्रियल जोन (सेंट्रल गैलील) में माका कंपनी ने अपनी शराब की बोतलों पर ऐतिहासिक नेताओं की तस्वीरों छापी है। यह बेहद गिरी हुई हरकत है। यह भारतीय नेताओं के साथ एक तरह से बिलकुल अनुचित व्यवहार है। उन्होंने दोनों प्रधानमंत्रियों से गांधी की अपमानजनक तस्वीर को लगाने को लेकर तुरंत सख्त कदम उठाने का आग्रह किया था। उनका कहना था कि इस तरह से बापू का 'मजाक' बनाया जा रहा है। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने मंगलवार को इस मुद्दे को राज्यसभा में उठाया था।

International News inextlive from World News Desk