रायपुर (पीटीआई)। आईटीबीपी के एक जवान ने बुधवार को छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में अपने सहयोगियों पर कथित रूप से गोलियां चला दीं, जिससे पांच कर्मियों की मौत हो गई और दो घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि बाद में उसने खुद को भी गोली मार ली। पुलिस महानिरीक्षक (बस्तर रेंज) सुंदरराज पी ने बताया कि घटना सुबह 8.30 बजे भारत-तिब्बत सीमा पुलिस की 45वीं बटालियन के एक शिविर में हुई, जो रायपुर से लगभग 350 किलोमीटर दूर कड़ेनेर गांव में है। उन्होंने कहा, 'मसूदुल रहमान के रूप में पहचाने जाने वाले आईटीबीपी के एक कांस्टेबल ने किसी बात पर विवाद के बाद अपने सर्विस हथियार से गोलियां चला दीं, जिसमें चार सैनिकों की मौत मौके पर ही हो गई, जबकि तीन अन्य घायल हो गए।'

निजी अस्पताल में कराया गया है घायलों को भर्ती

अधिकारी ने बताया कि घायल कर्मियों में से एक ने बाद में दम तोड़ दिया। आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक कुमार पांडे ने नई दिल्ली में कहा कि रहमान ने अपने साथियों की हत्या कर दी और फिर खुद को गोली मार ली, इसके साथ उन्होंने आगे यह भी कहा कि कांस्टेबल को अन्य सैनिकों ने नहीं मारा। इससे पहले, बस्तर रेंज आईजी ने कहा था, 'यह अभी तक स्पष्ट नहीं था कि रहमान ने खुद को मार डाला या उसे अन्य सहयोगियों ने गोली मार दी। मारे गए जवानों के हथियारों की जांच कर पता लगाया जाएगा कि उन्होंने जवाबी कार्रवाई की थी या नहीं।' उन्होंने बताया कि दो घायल सैनिकों को एयरलिफ्ट किया गया और उन्हें इलाज के लिए रायपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

गोलीबारी में इन जवानों की गई जान

रहमान के अलावा मारे गए जवानों की पहचान हेड कांस्टेबल महेंद्र सिंह, दलजीत सिंह, कांस्टेबल सुरजीत सरकार, बिस्वरुप महतो और बिजेश के रूप में की गई है। घटना में कॉन्स्टेबल एस बी उल्लास और सीताराम दून घायल हो गए।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk