छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: औद्योगिक नगरी जमशेदपुर में जाम की समस्या आम हो गई है. शनिवार की सुबह सात बजे से ही मानगो पुल जाम हो गया जिसके कारण पूरे शहर की यातायात व्यवस्था ध्वस्त हो गई. हजारों वाहन बस रेंग रहे थे. जाम का आलम यह है कि 500 मीटर लंबा पुल पार करने में कार चालक को 40 मिनट लग रहा था. सबसे ज्यादा परेशानी उन लोगों को हुई जिसके साथ महिलाएं और बच्चे थे.

इस संबंध में जमशेदपुर के यातायात डीएसपी शिवेंद्र ने बताया कि जाम का सबसे बड़ा कारण था टाटा स्टील द्वारा डिमना रोड से मानगो पुल तक सड़क निर्माण का कार्य. वहीं जाम के बीच में ही दो बड़े वाहन खराब हो गए. जिसके कारण लोगों को और ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा. यह तो संयोग था कि शनिवार के कारण अधिकांश स्कूल बंद थे, नहीं तो स्थिति विकट हो जाती.

धीरे-धीरे व्यवस्था सामान्य

जाम से छुटकारा दिलाने के लिए यातायात डीएसपी शिवेंद्र के अलावा मानगो थाने की पुलिस, साकची यातायात पुलिस के अलावा पुलिस कंट्रोल रूम से बड़ी संख्या में पुलिस के जवानों को लगाया गया था. बीच सड़क पर खराब वाहन को हटाना मुश्किल हो गया. वाहनों को हटाने के लिए क्रेन मंगवाई गई, लेकिन क्रेन को खराब वाहन तक पहुंचने में घंटों लग गए. बड़ी मशक्कत के बीच पुलिस किसी तरह खराब वाहन को हटाने में कामयाब हुई. इसके बाद धीरे-धीरे यातायात व्यवस्था सामान्य हो सका.

बड़े वाहन जाम की वजह

जाम की एक बड़ी वजह जमशेदपुर, आदित्यपुर समेत आसपास की दो हजार से भी ज्यादा कंपनियों के लिए माल लाने-ले जाने वाले ट्रक व ट्रेलर हैं. हर महीने लाखों ट्रक कच्चा मॉल लेकर आते हैं और तैयार माल लेकर जाते हैं. रोड पर ट्रकों की काफी ज्यादा संख्या की वजह से भी जाम लग रहा. इसके अलावा शहर में प्रतिदिन सात सौ बसें आना-जाना करती हैं. मानगो बस स्टैंड से झारखंड, बिहार, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों के लिए सरकारी व प्राइवेट बसों का संचालन होता है. जहां से हजारों की संख्या में लोग यात्रा करते हैं. इसके साथ ही शहर में चलने वाली टेंपो और बाइक से शहर में जाम की स्थित बनी रहती है.