छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: टाटा मोटर्स कान्वाई नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. ऑल इंडिया कान्वाई वर्कर्स यूनियन ने कान्वाई नेता ज्ञानसागर प्रसाद के कार्यो पर अंगुली उठाते हुए उनकी शिकायत उपायुक्त से की गई. बुधवार को यूनियन के महामंत्री अमरजीत सिंह बाटे ने डीसी से मिलकर ज्ञानसागर व उनके समर्थकों पर कंपनी व प्रशासन को गुमराह करने का आरोप लगाया. पत्र में कहा है कि ज्ञानसागर प्रसाद यूनियन के लेटरपैड का इस्तेमाल करते हैं. इसकी शिकायत टेल्को थाना, आरक्षी उपाधीक्षक आदि संबंधित अधिकारियों से की गई थी जिसमें उन्होंने स्वीकार किया था कि आगे से इस तरह की गलती नहीं होगी. कई बैठकों में ट्रासपोर्टरों के द्वारा सीधे तौर पर कर्मचारी बनने का आग्रह जिला प्रशासन की ओर से किया गया लेकिन ये लोग तैयार नहीं हुए. अशांति फैलाने वाले ज्ञानसागर पर नकेल कसने की मांग डीसी से की गई है.

लगाए गंभीर आरोप

उधर, ज्ञानसागर प्रसाद की ओर से एसएसपी को ज्ञापन सौंप कर यूनियन पर कई गंभीर आरोप लगाया गया है. ऑल इंडिया कॉन्वाई वर्कर्स यूनियन के नाम पर चल रही विभिन्न गतिविधियों को कानूनी रूप से अवैध करार दिया गया है. वरीय पुलिस अधीक्षक को बताया गया है कि यूनियन के नाम पर अवैध उगाही होती है. यूनियन अध्यक्ष व महामंत्री पर धोखा देने का आरोप लगाया गया है. ज्ञापन सौंपने वालों में अमरनाथ चौबे, अजीत कुमार, हरिशंकर प्रसाद, मो. इश्तियाक, त्रिलोचन सिंह, गुरमित सिंह, मो. सलीम, डी. पाल, सुनील शर्मा, भुगतान सिंह, दिनेश पांडेय, जसपाल सिंह, सुखदेव आदि शामिल थे.