-मठों व मंदिरों में धूमधाम से मनाया गया प्रभु श्री कृष्ण जन्मोत्सव का महापर्व

-आकर्षक झांकियों में भगवान की लीलाओं का हुआ वर्णन

-झांकियों के दर्शन के लिए लोगों की उमड़ी भारी भीड़

varanasi@inext.co.in

VARANASI: अपने आराध्य के आगमन की प्रतीक्षा कर रहे भक्तों की आस अ‌र्द्धरात्रि को पूरी हुई. प्रभु ने जन्म लिया और हर कोई आनंद के सागर में डूबने उतराने लगा. प्रभु श्री कृष्ण जन्मोत्सव का महापर्व जन्माष्टमी लगातार दूसरे दिन सोमवार को भी पूरी श्रद्धा, समर्पण और उत्साह से मनाई गई. शैव मतावलंबियों ने रविवार को ही कृष्ण जन्मोत्सव मनाया था. वैष्णव मतावलंबियों ने सोमवार को प्रभु जन्मोत्सव मनाया. कृष्ण लीला से जुड़ी आकर्षक सजी झांकियों के दर्शन के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ी.

मठों मंदिरों की रौनक ही अलग

मंदिरों और मठों में जन्माष्टमी की विशेष धूम रही. हरे कृष्ण हरे राम संकीर्तन सोसाइटी के तत्वावधान में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया. इस्कान मंदिर में भी धूमधाम से जन्माष्टमी का पर्व मनाया गया. श्री कृष्ण उत्सव चौखंभा स्थित गोपाल मंदिर में जन्मोत्सव का भव्य आयोजन हुआ. पुलिस लाइन में भी कृष्ण जन्मोत्सव का आयोजन हुआ. मथुरा साहू ठाकुर बाड़ी ट्रस्ट की ओर से भी जन्माष्टमी का आयोजन किया गया. हरे कृष्ण हरे राम संकीर्तन सोसाइटी की ओर से जन्मोत्सव के दूसरे दिन माहेश्वरी भवन में विशेष आयोजन किया गया. इस अवसर पर तुलसी महारानी की आरती की गयी. भक्तों ने भजन की गंगा भी बहाई. गायिका महुआ बनर्जी के भजन की लोगों ने बहुत सराहना की.

खरीदारों की उमड़ी भीड़

सोमवार को भी मार्केट में खरीदारों की भारी भीड़ उमड़ी. बांसफाटक, चौक, दशाश्वमेध आदि इलाकों में लोग भगवान कृष्ण के वस्त्र, पालना और अन्य सामान खरीदते दिखे. झांकी सजाने में काम आने वाला बुरादा, बिजली के झालर, करौंदे कदम की डाल की भी जमकर ब्रिकी हुई. घर के बच्चे और पुरुष झांकी सजाने में व्यस्त रहे तो महिलाएं भगवान का भोग तैयार करने में जुटी रहीं.