टोक्यो (एएनआई/रॉयटर्स)। जापान सरकार ने हेगिबिस तूफान को देखते हुए छह लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने के लिए कहा है। बता दें कि शनिवार को शक्तिशाली हेगिबिस तूफान ने जापान में कुछ इलाकों में तहलका मचाया, अब यह राजधानी टोक्यो की तरफ बढ़ रहा है। इस तूफान के चलते एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच लोग घायल भी हुए हैं। पूरे जापान में आंधी-तूफान तेज है। शनिवार को रग्बी विश्वकप के दो मैचों को भी रद करना पड़ा है। मौसम विभाग का कहना है कि हेगिबिस 1958 के बाद से अब तक राजधानी से टकराने वाला सबसे शक्तिशाली तूफान हो सकता है।

कई फ्लाइट्स और ट्रेनें निलंबित

हेगिबिस तूफान के चलते जापान की राजधानी के आसपास के इलाकों में तेज बारिश हो रही है। 24 घंटे में कांगावा क्षेत्र में 27।6 इंच बारिश दर्ज की गई। मौसम विशेषज्ञों ने टोक्यो व आसपास के इलाकों में भीषण बाढ़ व भूस्खलन की भी आशंका जताई है। बताया जा रहा है कि तूफान के चलते करीब 16 हजारों घरों की बिजली गुल है। इससे परिवहन और बिजली सेवाएं ज्यादा प्रभावित हुई हैं। हजार से ज्यादा फ्लाइटों को रद कर दिया गया है और कई ट्रेनें निलंबित हो चुकी हैं। दुकानों व फैक्ट्रियों को भी बंद कर दिया गया है। इसी बीच ट्विटर पर 'प्रे फॉर जापान' भी काफी ट्रेंड कर रहा है।

अमेरिका ने फ्लाइट लेट होने के चलते जापान एयरलाइन्स पर लगाया 2 करोड़ रुपये का जुर्माना

जापानी सरकार ने बनाया एक ट्विटर अकाउंट

जापानी सरकार ने आपदा से जुड़ी सूचनाएं प्रसारित करने के लिए एक ट्विटर अकाउंट भी बनाया है। टोक्यो के चीबा इलाके में तेज हवा के चलते भारी तबाही हुई है। कई घरों की छत व दीवारों को नुकसान हुआ है। पिछले महीने आए फक्साई तूफान में यहां 30,000 घर या तो ढह गए थे या बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए थे।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk

inext banner
inext banner