नई दिल्ली (पीटीआई)। अपने बचपन के दिनों को याद करते हुए, भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने बुधवार को खुलासा किया कि एक समय था जब वह सिर्फ एक जोड़ी जूते और टी-शर्ट खरीद सकते थे। पांच साल की उम्र में अपने पिता को खोने के बाद, भारत के पेस अटैक के पोस्टर बॉय बनने से बहुत पहले, बुमराह को एक कठिन समय सहना पड़ा था। 25 वर्षीय भारतीय तेज गेंदबाज बुमराह वर्तमान में अपनी पीठ के निचले हिस्से पर एक फ्रैक्चर के कारण सीरीज से बाहर है।

मां ने भी बयां की संघर्ष की कहानी
विश्व क्रिकेट में अपनी गेंदबाजी का लोहा मनवा चुके बुमराह का जीवन संघर्षों भरा रहा है। बुधवार को मुंबई इंडिंयस ने टि्वटर पर बुमराह की मां दलजीत के इंटरव्यू का एक वीडियो पोस्ट किया। इस वीडियो में दलजीत बता रही हैं, 'जब वह पांच साल का था, तो मैंने अपने पति को खो दिया।'  इसके बाद बगल में बैठे बुमराह बोले, 'हम कुछ नहीं कर सकते थे। मेरे पास एक जोड़ी जूते थे। मेरे पास एक जोड़ी टी-शर्ट हुआ करती थी। मैं हर दिन उन्हें धोता था और बार-बार इस्तेमाल करता था।'


बुमराह को पहली बार टीवी में देख रो पड़ी थी मां
बता दें भारतीय गेंदबाजी की मुख्य कड़ी बन चुके जसप्रीत बुमराह 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग में क्रिकेट के मैदान में आए और छह साल के भीतर दुनिया के नंबर वन ODI गेंदबाज बन गए। दलजीत ने कहा, "पहली बार जब मैंने उन्हें टीवी पर उस आईपीएल मैच में देखा, तो मैं रोना बंद नहीं कर सकी। मेरे बेटे ने मुझे आर्थिक और शारीरिक रूप से संघर्ष करते देखा है।" गुजरात के तेज गेंदबाज बुमराह जो इस समय अपनी चोट का इलाज कराने के लिए लंदन में हैं। वह कहते हैं, 'ये सभी कठिन समय आपको मजबूत बनाते हैं क्योंकि आपने पहले से अधिक कठिन देखा है।"

 

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk

inext-banner
inext-banner