मुंबर्इ (पीटीआर्इ)। जेट एयरवेज ने रविवार को कम से कम 14 उड़ानें रद्द कर दीं। जेट एयरवेज ने कहा कि उड़ानों के रद होने की जानकारी यात्रियों को एसएमएस अलर्ट के जरिये दी है। इसके अलावा यात्रियों को अन्य उड़ान में सीट देकर या फिर नुकसान की भरपार्इ के जरिए यात्रियों को सहूलियत दी सूत्रों की मानें तो कुछ पायलट अपने बकाये का भुगतान नहीं होने की वजह से कथित तौर पर काम पर नहीं आए हैं। एयरलाइन ने सितंबर के लिए इन कर्मचारियों को इनके वेतन का आंशिक रूप से भुगतान किया आैर अक्टूबर और नवंबर का पूरा वेतन भी अभी नहीं दिया है।

पायलटों ने बीमारी बताकर छुट्टी ली

हालांकि अधिकांश पायलटों ने बीमारी बताकर छुट्टी ली। पायलट सैलरी और बकाये का भुगतान न होने और इस मुद्दे को प्रबंधन के समक्ष उठाने में नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) के उदासीन रवैये से काफी नाराज है। कुछ पायलटों ने एयरलाइन चेयरमैन नरेश गोयल को भी पत्र लिखकर कहा कि वे इस तरीके से काम करने के इच्छुक नहीं हैं। एनएजी जेट एयरवेज के पायलटों की एक संस्था है। इसमें करीब हजार से अधिक पायलट शामिल हैं। घाटे में चल रही निजी एयरलाइन जेट एयरवेज कंपनी अगस्त से अपने वरिष्ठ प्रबंधन और पायलटों को पूरा वेतन नहीं दे पा रही है।

क्रू की एक गलती से विमान में 30 यात्रियों के नाक कान से बहने लगा खून

National News inextlive from India News Desk