रांची (ब्यूरो)। पहले चरण के लिए मतदान 30 नवंबर को होगा जबकि अंतिम चरण के लिए 20 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे। 52 दिनों की कड़ी मशक्कत के बाद 23 दिसंबर को नतीजे घोषित होंगे और नई सरकार की तस्वीर साफ होगी। चुनाव की घोषणा के साथ ही राज्य भर में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। इस चुनाव में राज्य के 2,26,17,612 मतदाता नेताओं का भविष्य तय करेंगे। इनमें 1.18 करोड़ पुरुष तथा 1.08 करोड़ महिला मतदाता शामिल हैं। 240 थर्ड जेंडर भी अपनी वोटिंग राइट का इस्तेमाल कर सकेंगे।

सीएम की तस्वीरें हटाने का निर्देश

आचार संहिता लागू होते ही इसके अनुपालन का आदेश भी जारी कर दिया गया है। सरकार ने आदेश जारी किया है कि प्रचार-प्रसार की जितनी सामग्री प्रचारित की गई है, तस्वीर युक्त सरकारी कैलेंडर, सरकारी वेबसाइट और वैसे सभी डिस्प्ले, जिन पर मुख्यमंत्री की तस्वीर है, उन सबको तत्काल हटा लें। विधानसभा चुनाव-2019 को ध्यान में रखते हुए सभी अधिकारी पूरी गंभीरता से आदर्श आचार संहिता का अनुपालन सुनिश्चित करें।

वीवीपैट का होगा इस्तेमाल

आयोग ने निर्वाचन प्रक्रिया की पारदर्शिता और विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए प्रत्येक मतदान केंद्र में इलेक्ट्रॉनिक मशीन (ईवीएम) के साथ वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रायल (वीवीपैट) के उपयोग का निर्णय लिया है। वीवीपैट के उपयोग से कोई मतदाता जान सकेगा कि जिसे उसने वोट दिया, वास्तवमें उसे पड़ा या नहीं।

चुनावों में कब पड़े कितने वोट

वर्ष    विस चुनाव    लोस चुनाव

2004/2005    57.56    54.26

2009    58.28    50.98

2014    66.42    63.82

नोट : आंकड़े प्रतिशत में हैं।

फैक्ट फाइल

- झारखंड विधानसभा का कार्यकाल पांच जनवरी 2020 को समाप्त हो रहा है।

- राज्य की 81 विधानसभा सीटों में 28 अनुसूचित जनजाति और 9 अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित हैं।

- आयोग के अनुसार, राज्य के 19 जिले नक्सल प्रभावित हैं। इनमें से 13 जिले अति संवेदनशील हैं।

- 67 नक्सल प्रभावित विधानसभा क्षेत्र हैं।

पांच चरणों में चुनाव कराना एकदम सही : भाजपा

भाजपा ने झारखंड में पांच चरणों में विधानसभा चुनाव कराए जाने की घोषणा का स्वागत किया है। पार्टी के प्रदेश महामंत्री दीपक प्रकाश ने शुक्रवार को प्रदेश मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य में सुरक्षित और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए आयोग ने उचित निर्णय लिया है। दीपक प्रकाश ने कहा कि 2014 के चुनाव भी पांच चरणों में ही संपन्न हुए थे। भाजपा ने जन भावनाओं के अनुरूप चुनाव आयोग से पांच चरणों में चुनाव की मांग रखी थी।

ranchi@inext.co.in

Posted By: Sudhir Jaiswal