रांची (ब्यूरो)। इसमें प्राथमिक उपचार की सुविधा होगी और इससे घटनास्थल से लोगों को तुरंत निकालने में सुविधा मिलेगी। इसके साथ ही चुनाव में शराब बांटने सख्त रोक होगी। इससे निपटने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। हर जिले में तीन फ्लाइंग स्क्वॉड बनाया गया है। दूसरे राज्यों से लगी सीमा पर चेक नाका बनाए जा रहे हैं।

आईटी विभाग को देनी होगी 10 लाख से ज्यादा कैश की जानकारी

श्री चौबे ने बताया कि आदर्श आचार चुनाव संहिता लागू होने की वजह से अब कोई भी व्यक्ति मात्र दस हजार रुपये कैश अपने पास रख सकता है। इसको लेकर कई स्लैब भी बनाए गए हैं। हालांकि, दस लाख रुपये या उससे ज्यादा कैश मिलने के बाद इनकम टैक्स टीम को जानकारी दी जाएगी। जांच में सब कुछ सही पाए जाने पर ही उस राशि को छोड़ा जाएगा, अन्यथा जब्त कर कार्रवाई होगी।

खराब ईवीएम का नहीं होगा इस्तेमाल

मुख्य चुनाव पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने कहा कि राज्य में उपयोग होने वाली ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) की सीसीटीवी की निगरानी में चेकिंग की गई है। इसमें एक दो फीसद ईवीएम खराब निकले, जिन्हें बनाने के लिए कंपनी भेज दिया गया है। अब उन ईवीएम का विधानसभा चुनाव में कहीं भी इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

दिव्यांग व बुजुर्ग कर सकेंगे पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल

इस बार राज्य में नए मतदाताओं की संख्या पौने तीन लाख होगी। हालांकि, अभी मतदाताओं के नाम जोड़ने की प्रक्रिया चल रही है। यह आंकड़ा बढ़ भी सकता है। राज्य में 18 वर्ष से अधिक उम्र के 2,18,836 मतदाता है। राज्य में दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 2.80 लाख है। इसी तरह से बुजुर्ग मतदाताओं की संख्या 2,18,838 है। पहली बार इनको पोस्टल बैलेट से वोट करने की छूट प्रदान की जा रही है। इसके लिए डोर टू डोर कलेक्शन किया जाएगा। देश में इस तरह का प्रयोग पहली बार हो रहा है।

विभागों से मांगी जाएगी योजनाओं की जानकारी

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि शुक्रवार शाम से ही आदर्श आचार चुनाव संहिता लागू हो गई है। ऐसे में उनकी ओर से सभी विभागों को एक पत्र लिखा जा रहा है, जिसमें जानकारी मांगी जाएगी कि उनके विभागों में कितनी योजनाओं पर काम चालू हो गया है और कितनों में स्वीकृति मिलने के बाद भी काम चालू नहीं हो पाया है। अगर जरूरत होगी, तो मुख्य निर्वाचन आयोग से अनुमति के बाद ही उसे चालू किया जा सकेगा।

ranchi@inext.co.in

Posted By: Sudhir Jaiswal