-संगठनों ने अल्बर्ट एक्का चौक पर निकाला मशाल जुलूस

-स्थानीयता को लेकर आदिवासी-मूलवासियों को ठगने का आरोप

RANCHI : स्थानीय नीति लागू करने की मांग को लेकर रविवार को विभिन्न आदिवासी मूलवासी संगठनों की ओर से झारखंड बंद बुलाया गया है. शनिवार की शाम अल्बर्ट एक्का चौक पर मशाल जुलूस निकालकर बंद की घोषणा की गई. आदिवासी मूलवासी जनाधिकार मंच के संयोजक राजू महतो ने बताया कि बंद को सफल बनाने के लिए समर्थक सुबह से ही सड़क पर उतरेंगे.

सरकार से उठा भरोसा

उन्होंने कहा कि सीएम रघुवर दास ने एक साल पहले ही विधानसभा में घोषणा की थी कि दो महीने के अंदर स्थानीय नीति बन जाएगी. लेकिन अब तक राज्य सरकार की ओर से इस दिशा में कोई पहल नहीं की गई. अब राज्य की जनता को सीएम की घोषणाओं पर भरोसा नहीं है. इस मुद्दे पर सरकार गंभीर भी नजर नहीं आ रही है. उन्हाेंने यह भी आरोप लगाया कि स्थानीयता के मुद्दे पर आदिवासी-मूलवासियों को ठगा जा रहा है. उन्होंने कहा कि एक ओर राज्य सरकार की ओर से विभिन्न माध्यमों से नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है, लेकिन स्थानीय नीति नहीं रहने के कारण यहां के गरीब आदिवासी और मूलवासी युवकों को मौका नहीं मिल पा रहा है. साथ ही उन्होंने नौ क्षेत्रीय एवं जनजातीय भाषाओं को भी समुचित स्थान दिये जाने की मांग की.

बंद को इनका समर्थन

इस बंद को आदिवासी जन परिषद, कुरमी विकास व छात्र मोर्चा, आदिवासी छात्र संघ, आदिवासी-मूलवासी छात्र मोर्चा, आदिवासी-मूलवासी संगठन, स्थानीय नीति संघर्ष मोर्चा सहित कई संगठनों ने समर्थन देने की घोषणा है.

पुलिस प्रशासन अलर्ट

इधर, झारखंड बंद के दौरान विधि व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुलिस-प्रशासन की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. शहर के विभिन्न चौक-चौराहों और संवेदनशील क्षेत्रों में दंडाधिकारियों के नेतृत्व में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई है.