रांची (ब्यूरो)। झारखंड विधानसभा का नया भवन अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित है। मुख्य भवन में बिजली की आपूर्ति सौर ऊर्जा के माध्यम से होगी। भवन में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लगाया गया है। यह देश की पहली पेपरलेस विधानसभा है। नवनिर्मित विधानसभा भवन के मुख्य गुंबद की छत आदिवासी समुदाय की मूल अवधारणा जल, जंगल और जमीन को स्थानीय सोहराय चित्रकारी के माध्यम से प्रदर्शित किया गया है।

39 एकड़ भूमि में फैला है नया विधानसभा भवन व परिसर

465 करोड़ की लागत से निर्मित नया विधानसभा भवन व परिसर 39 एकड़ भूमि में फैला है। यह दो भागों में विभक्त है। इसका गुंबद 37 मीटर ऊंचा है जो देश में सबसे ऊंचा गुंबद बताया जा रहा है। विधानसभा में 162 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की गई है। भवन में 22 मंत्री कक्ष, 17 विधानसभा समिति कक्ष, मुख्य सचेतक, विधानसभा के पदाधिकारियों, कर्मचारियों के लिए माकूल प्रबंध किए गए हैं।

परिसर में बैंक, एटीएम, आरक्षण केंद्र, स्वास्थ्य केंद्र और फिटनेस सेंटर

पीएम ने सचिवालय बिल्डिंग की भी आधारशिला रखी। झारखंड को नई विधानसभा के बाद नया सचिवालय भवन भी जल्द मिलेगा। रांची के एचईसी स्थित कोर कैपिटल में बनने वाले नए सचिवालय भवन चार मंजिला होगा। इसे दो भागों- ईस्ट और वेस्ट ब्लॉक के रूप में बांटा जाएगा। इसके निर्माण के लिए 1238 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी जा चुकी है। यह भवन 23।60 लाख वर्ग फीट में निर्मित होगा। नए सचिवालय भवन में मुख्यमंत्री और सभी मंत्रियों के लिए अलग-अलग चैंबर होंगे। इसके अलावा वीडियो कांफ्रेंसिग रूम, मीडिया रूम और 32 विभागों के दफ्तर रहेंगे। सचिवालय परिसर में बैंक, एटीएम, आरक्षण केंद्र, स्वास्थ्य केंद्र और फिटनेस सेंटर समेत कई और सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी।

ranchi@inext.co.in