जमशेदपुर (ब्यूरो)। शहर में कोल्हान स्तरीय युवा सम्मेलन हुआ, जिसमें झाविमो सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी भी शामिल हुए। सिदगोड़ा स्थित बिरसा मुंडा टाउन हॉल में हुए समारोह को संबोधित करते हुए बाबूलाल केंद्र की भाजपा व रघुवर सरकार पर जमकर बरसे। मरांडी ने कहा कि रघुवर दास पांच साल तक हाथी उड़ाते रहे और इधर राज्य की हालत बद से बदतर होती गई।

हाथी ना कभी उड़ा है और ना उड़ेगा

पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने कहा कि मोमेंटम झारखंड के नाम पर 900 करोड़ रुपये खर्च हुए। रघुवर दास निवेशकों को बुलाने के लिए अमेरिका, चीन, सिंगापुर तक गए। मुंबई-दिल्ली समेत महानगरों में रोड शो किया, लेकिन कोई नहीं आया। मैंने रघुवर दास से शुरू में ही कहा था कि यह सब मत करिए, बाहर से कोई यहां पूंजीनिवेश करने नहीं आएगा। हाथी ना कभी उड़ा है, ना उड़ेगा। झारखंड को ही मजबूत करिए, लेकिन नहीं सुनी।

नहीं बताते राज्य में कितने उद्योग बंद हुए

मरांडी ने कहा कि अब पूछने पर भी मुख्यमंत्री रघुवर दास ये नहीं बताते कि कितना पूंजीनिवेश हुआ। वे इस बात पर भी चुप हो जाते हैं कि पांच वर्ष में कितने उद्योग बंद हो गए। दरअसल, झारखंड में उद्योग के लिए हर तरह का खनिज है, तो पानी भी 1200 मिमी बरसता है।

छोटे-छोटे पावर प्लांट बनाकर हल कर सकते थे बिजली की समस्या

झाविमो सुप्रीमों ने कहा कि झारखंड राज्य में सबकुछ है। यदि कुछ नहीं है तो बिजली। जब रघुवर दास मुख्यमंत्री बने थे तो राज्य में 500 मेगावाट बिजली पैदा होती थी, जो आज 150 मेगावाट हो गई है। उनसे पूछिए कि 350 मेगावाट बिजली कहां गई। वे चाहते तो छोटे-छोटे पावर प्लांट बनाकर यह समस्या हल कर सकते थे, लेकिन भाजपा सरकार बड़े उद्यमियों को ही आगे बढ़ाना चाहती है। आज गांव में सिंचाई की व्यवस्था नहीं है। सैकड़ों स्कूल बंद हो गए। आज भी गांवों के स्कूल में शिक्षक नहीं हैं।

jamshedpur@inext.co.in

Posted By: Inextlive Desk