JAMSHEDPUR : कोल्हान में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच गुरुवार को एक अच्छी खबर आई। कोरोना संक्त्रमण को मात देनेवाले 21 लोगों को कोविड अस्पताल से छुट्टी मिल गई। जिला प्रशासन की टीम ने स्वस्थ हुए सभी 21 लोगों को शुभकामनाएं देते हुए उनके घरों के लिए विदा किया। एक साथ इतनी बड़ी संख्या में लोगों के संक्त्रमणमुक्त होने से चिकित्साकर्मियों ने भी राहत की सांस ली है और उनमें नई ऊर्जा का संचार हुआ है। अब यह कहा जा रहा है कि कोल्हान में कोरोना के संक्त्रमण के बढ़ते मामले के बीच संक्त्रमितों के स्वस्थ होने के क्त्रम में भी तेजी आई है। इसके पूर्व भी पूर्वी सिंहभूम में दो कोरोना संक्त्रमित स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं।

अस्पताल से विदाई

पूर्वी सिंहभूम जिले में कोरोना संक्त्रमित मिलने की शुरुआत उस समय हुई जब घाटशिला अनुमंडल के चाकुलिया में एक साथ युवक व युवती के संक्त्रमित होने की पुष्टि हुई थी। दोनों को टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) के कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दोनों को ही कोरोना संक्त्रमण से मुक्त होने के बाद उनके घर भेजा जा चुका है। चाकुलिया निवासी युवक को राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने गुलदस्ता देकर टीएमएच से विदा किया था।

पिछले हफ्ते ठीक हुए थे चार

इसके साथ ही पिछले सप्ताह तक टीएमएच से चार कोरोना संक्त्रमित ठीक होकर घर लौट चुके हैं। चाकुलिया का युवक कोलकाता में चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) की तैयारी कर रहा था। लॉकडाउन के दौरान वह अपने घर आया था। उसे जब पता चला कि वह कोरोना पॉजिटिव है, तो यह सुनकर काफी नर्वस हो गया था। जिला प्रशासन ने उसे टीएमएच के कोविड वार्ड में भर्ती कराया। यहां डॉक्टरों ने दिलासा दिया कि वह घबराए नहीं। यह बीमारी जानलेवा नहीं है। यह सुनने के बाद उसे काफी शांति मिली। आखिरकार मैं ठीक हो गया।

स्वस्थ हो घर लौट चुकी है पहली कोरोना पॉजिटिव

पश्चिमी सिंहभूम में पहला कोरोना पॉजिटिव केस एक महिला का था। पिछले सप्ताह वह स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुकी है। उसका इलाज चाईबासा सदर अस्पताल के कोविड वार्ड में किया जा रहा था। उपायुक्त, उप विकास आयुक्त एवं अस्पताल के चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मियों ने ताली बजाकर महिला को अस्पताल से घर लिए विदा किया। उसे उपहार भी जिला प्रशासन की ओर से दिया गया।

Posted By: Inextlive