रांची: सिटी में चोरी की वारदातें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। हर दूसरे-तीसरे दिन चोरी की सूचनाएं सामने आ रही हैं। राजधानी के अलग-अलग मोहल्लों में लगातार चोरी की वारदातें हो रही हैं। कभी किसी घर में घुस कर चोर सामान उड़ा रहे है तो कभी दुकानों के ताले तोड़ कर हाथ साफ कर रहे हैं। लेकिन प्रशासन की ओर से न तो सुरक्षा की व्यवस्था सख्त की जा रही है और न ही चोरों को पकड़ने में पुलिस को सफलता मिल रही है। यही वजह है कि चोरों बेखौफ होकर वारदातों को अंजाम देने लगे हैं। घरों और दुकानों को चोर अपना निशाना बना रहे हैं। पुलिस इस पर लगाम लगाने में पूरी तरह विफल साबित हो रही है।

क्राइम कंट्रोल के दावे फेल

राजधानी की पुलिस बीते कई महीने से क्राइम कंट्रोल के दावे कर रही है। डीजीपी, एसएसपी क्राइम को कम करने के लिए लगातार स्टेटमेंट दे रहे हैं। लेकिन राजधानी में चोरी को रोकने में पुलिस फेल साबित हो रही है। बीते 15 दिनों में चोरों में दर्जनों चोरी को अंजाम दिया है। इस साल की पहली तारीख को ही बड़ी चोरी को अंजाम दिया गया था। जिसमें जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के हटिया में एक घर से 25 लाख रुपए की चोरी का मामला सामने आया। इस केस में पुलिस के हाथ अबतक खाली हैं। अपराधियों को पकड़ने के पुलिस के हर फार्मूले नाकाम साबित हो रहे हैं। पुलिस हर बार क्राइम कंट्रोल को लेकर एक्टिव होने की बात करती है। लेकिन इन दावों के अगले ही दिन कोई न कोई अपराध की बड़ी वारदात सामने आ जाती है।

मोहल्ले में पुलिस गश्ती कमजोर

सभी थाना लेवल पर पुलिस की गश्ती मजबूत करने का निर्देश दिया गया है। लेकिन थाना स्तर पर पुलिस की गश्ती काफी कमजोर हो रही है। मुहल्लों और कॉलोनियों में पुलिस की पेट्रोलिंग जैसी होनी चाहिए उस तरह से नहीं हो पा रही है। सुखदेव नगर थाना, पंडरा ओपी, चुटिया थाना, बरियातू थाना की ओर से पेट्रोलिंग में बार-बार शिकायत आ रही है। अतिरिक्त जवानों के साथ पीसीआर और टाईगर पुलिस की तैनाती हुई थी। लेकिन शहर में चोरी की वारदातों को रोकने में पुलिस सफल नहीं हो रही है। आम लोगों का कहना है कि रात दस बजे और 11 बजे के बाद पुलिस की गश्ती बंद हो जाती है। जबकि ज्यादातर चोरी रात के दो, तीन और सुबह के चार बजे ही होती है। इस दौरान आम नागरिक भी गहरी नींद में होते हैं और पुलिस की पेट्रोलिंग बंद हो जाती है। मौके का फायदा उठाकर चोर घरों और दुकानों में हाथ साफ कर जाते हैं। लोग जब अपनी आपबीती लेकर पुलिस स्टेशन पहुंचते है तो वहां भी पुलिस का सपोर्ट नहीं मिलता।

इस महीने हुई चोरी की वारदात

14 जनवरी: ओरमांझी थाना क्षेत्र में चार लाख कैश समेत 17 लाख के ज्वेलरी की चोरी

09 जनवरी: चुटिया थाना क्षेत्र की एक दुकान से 45 हजार कैश समेत अन्य सामानों की चोरी

09 जनवरी: लालपुर थाना क्षेत्र में तीन घर समेत एक महिला समिति के ऑफिस में चोरी

08 जनवरी : कांके में दो मंदिरों से हजारों रुपए की चोरी

05 जनवरी: बरियातू थाना क्षेत्र में तीन दुकानो का ताला तोड़कर एक में चोरी

04 जनवरी: पंडरा थाना क्षेत्र बजरा स्थित एक दुकान में चोरी

03 जनवरी: पंडरा में मोबाइल दुकान में चोरी

03 जनवरी: हिनू में हार्डवेयर दुकान में चोरी

01 जनवरी: हटिया की एक दुकान से लाखों रुपए की चोरी