- सिटी की प्राइम लोकेशन की बस्तियों को साफ करने की तैयारी, केडीए बनाएगा बिल्डिंग

- जूही राखी मंडी और झकरकटी बस्ती से होगी शुरुआत, यहां रहने वाले को दिए जाएंगे फ्लैट

- जमीन को रेजीडेंशियल कम कॉमर्शियल में डेवलप करेगा केडीए, वीसी ने किया निरीक्षण

kanpur@inext.co.in

KANPUR : केडीए ने शहर में प्राइम लोकेशन पर बसी बस्तियों को साफ करने की तैयारी कर ली है. बस्तियों में रहने वालों के लिए बिल्डिंग बनाकर फ्लैट दिए जाएंगे. जिसके बाद खाली जमीनों को केडीए अपने लिए यूज करेगा. इससे केडीए और बस्तियों में रहने वाले दोनों का फायदा होगा. कानपुर में कई जगहों पर बस्तियां हैं, जो कई एकड़ जमीन पर ं फैली हुई है. ट्रायल के तौर पर केडीए जूही राखी मंडी व झकरकटी बस्ती से इस नए प्रोजेक्ट की शुरूआत कर रहा है. इसके सक्सेस होने पर अन्य बस्तियों में भी प्रोजेक्ट बनाया जाएगा.

केडीए वीसी ने किया निरीक्षण

इस प्रोजेक्ट के लिए केडीए वीसी के विजयेंद्र पांडियन ने खुद जूही स्थित राखी मंडी पहुंचकर वहों रहने वालों से बातचीत की. राखी मंडी स्थित बस्ती में करीब 200 से ज्यादा परिवार झोपड़ी बनाकर रहते हैं. यह बस्ती करीब सात एकड़ जमीन पर फैली हुई है. शहर की अच्छी लोकेशन पर इस बस्ती को हटाकर जमीन के एक हिस्से पर केडीए लोगों को फ्लैट बनाकर देगा. बाकी हिस्से में केडीए रेजीडेंशियल कम कॉमर्शियल बिल्डिंग बनाकर बेचेगा. इसके अलावा जूही डब्ल्यू ब्लाक में भी जमीन का निरीक्षण किया.

----------------

झकरकटी पुल का रास्ता साफ होगा

झकरकटी पैरलल पुल बनाने का रास्ता अब साफ होने के आसार बन गए हैं. इसको लेकर केडीए वीसी ने एक प्लान भी बनाया है. इस प्लान के तहत पुल के रास्ते में आने वाली बस्तियों को भी शिफ्ट किया जाएगा. पुल के लिए जमीन के अलावा बची जमीन केडीए कॉमर्शियल यूज में लेगा.

------------------

बस्तियों में रहने वालों से बात की जाएगी. इसमें केडीए नो प्रॉफिट और नो लॉस पर कार्य करेगा. इससे बस्तियों में रहने वाले लोगों के जीवन में भी सुधार आएगा. सहमति बनने के बाद कार्य किया जाएगा.

-के विजयेंद्र पांडियन, केडीए वीसी