संयुक्त व्यापार संघ चुनाव

- गहमा-गहमी के बीच संपन्न हुए संयुक्त व्यापार संघ के चुनाव

-शाम 6 बजे तक 1392 मतदाताओं में से 1364 ने डाले वोट

-भाजपा-गैरभाजपा की हुई जोरदार टक्कर, भाजपा नेताओं का लगा जमावड़ा

-मतदान केंद्र पर तैनात रहा पुलिस-प्रशासन

Meerut: शहर की सबसे बड़ी व्यापारिक संस्था संयुक्त व्यापार संघ के चुनाव में सोमवार भाजपा और गैरभाजपा में सीधी टक्कर देखने को मिली. यूं तो इस चुनाव से पल्ला झाड़ रही भाजपा मतदान के दिन बिजेंद्र अग्रवाल पैनल के साथ खड़ी दिखाई दी. सोमवार को 97.98 प्रतिशत की वोटिंग ने चुनाव के परिणाम को रोमांचकारी बना दिया. मंगलवार देर शाम तक वोट की गिनती के बाद चुनाव परिणाम घोषित कर दिया जाएगा.

1364 वोट पड़े

मेरठ की 696 संस्थाओं के 1392 पदाधिकारी वोटर हैं. हर संस्था के अध्यक्ष और महामंत्री को संयुक्त व्यापार संघ के त्रिवार्षिक चुनाव में वोट डालने का अधिकार है. सूरजकुंड स्थित श्याम भवन (लग्न मंडप) मतदान स्थल पर प्रात: 9 बजे से शाम 6 बजे तक 1364 (97.98 प्रतिशत) मतदान हुआ है. अध्यक्ष समेत विभिन्न 16 पदों पर दो पैनल आमने-सामने हैं तो वहीं मंत्री पद पर 2 स्वतंत्र प्रत्याशी समेत 34 प्रत्याशी मैदान में हैं. धीमी गति से शुरू हुई प्रक्रिया ने 2 बजे के बाद गति पकड़ी और रिकॉर्ड वोटिंग हुई. चुनाव में नवीन गुप्ता और बिजेंद्र अग्रवाल पैनल आमने-सामने हैं. मंगलवार प्रात: 8 बजे मतगणना आरंभ होगी, संभावना है शाम 5 बजे तक विभिन्न पदों पर परिणाम घोषित हो जाएंगे.

भाजपा बनाम गैरभाजपा

संयुक्त व्यापार संघ के चुनाव की घोषणा के दिन से ही यह विवादों में रहा है. भाजपा महानगर अध्यक्ष करुणेश नंदन गर्ग खुलकर बिजेंद्र अग्रवाल पैनल के समर्थन में आ गए तो वहीं नवीन गुप्ता को गैर भाजपाइयों घोषित करने में भाजपा नेताओं ने कोई कसर नहीं छोड़ी. नवीन गुप्ता पैनल ने भी भाजपा को पार्टी बनाकर जमकर बयानबाजी की. मतदान के ऐन मौके पर भाजपा खुलकर सामने आ गई .सोमवार को मतदान स्थल पर बिजेंद्र खेमे में भाजपा नेताओं की गहमागहमी देखी गई. महानगर अध्यक्ष के अलावा महानगर महामंत्री कमलदत्त शर्मा, क्षेत्रीय प्रवक्ता आलोक सिसौदिया, निर्दोष त्यागी आदि बिजेंद्र अग्रवाल खेमे में थे तो वहीं भाजपा नेता विनीत शारदा, नवीन गुट की पैरवी कर रहे थे. विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल ने वोट डाला तो पूर्व क्षेत्रीय मंत्री जयकरन गुप्ता आदि मतदान स्थल पर मौजूद थे.

जमकर हुई गहमा-गहमी

प्रात: 9 बजे से शुरू हुए मतदान के दौरान दोनों खेमों में जमकर गहमा-गहमी हुई. छिटपुट नोकझोंक के बीच मतदान चलता रहा तो वहीं पुलिस-प्रशासन की ओर से सुरक्षा का कड़ा बंदोबस्त किया गया. दोनों ही पैनल के प्रत्याशी मतदान स्थल की ओर जा रहे कारोबारी मतदाताओं से वोटिंग की अपील कर रहे थे. मतदान परिसर में दाखिल होने को लेकर कई बार कारोबारी नेता, पुलिस से भिड़ गए .

बनियान में डाला वोट

मतदान स्थल पर नवीन गुप्ता समर्थक कुछ मतदाता प्रत्याशी के नाम की टी शर्ट पहनकर वोट डालने गए. मुख्य चुनाव अधिकारी मुकुल सिंघल के समझाने पर नहीं माने तो उन्होंने वोट न डालने देने का फरमान दे दिया. इस पर मतदाताओं ने टी शर्ट उतारकर बनियान में वोट डाला.

यहां भी डेंगू-चिकनगुनिया

शहर वायरल फीवर की चपेट में है तो वहीं संघ के चुनाव में भी डेंगू-चिकनगुनिया का प्रकोप देखने को मिला. कई मतदाता बीमारी की हालत में वोट डालने आए. जिन्हें बेरीकेडिंग से ई-रिक्शा द्वारा मतदान स्थल तक लाया गया. वहीं कुछ मतदान स्थल तक पहुंचने में असमर्थ मतदाताओं को बैलट पेपर बेरीकेटिंग के पास ही मुहैया कराया गया.

मतदान में लगी जंबो टीम

मुख्य चुनाव अधिकारी के अलावा दो चुनाव अधिकारी गिरीश अग्रवाल और मनोज अग्रवाल की तैनाती मतदान केंद्र पर थी. इसके अलावा 8 सहायक चुनाव अधिकारी प्रक्रिया को पूर्ण करा रहे थे. करीब 20 लोगों को आउटसोर्स किया गया था. मुख्य चुनाव अधिकारी ने बताया कि इस बार मतगणना की प्रक्रिया को सुगम बनाया गया है, बैलट पेपर का रंग बदलने से आसानी से काउंटिंग हो सकेगी. अध्यक्ष पद पर जीत की घोषणा सबसे अंत में होगी.

कांटे की टक्कर

नवीन गुट बिजेंद्र गुट

अध्यक्ष नवीन गुप्ता बिजेंद्र अग्रवाल

महामंत्री संजय जैन अरुण वशिष्ठ

उपाध्यक्ष लल्लू मक्कड़ कमल ठाकुर

सुभाष गुप्ता नीरज मित्तल

विपुल सिंघल सरदार दलजीत सिंह

कोषाध्यक्ष सतीश चंद्र जैन पवन मित्तल

संयुक्त मंत्री आशू रस्तोगी गजेंद्र शर्मा

मंत्री के 9 पदों पर दोनों पैनल से एक-एक प्रत्याशी मैदान में हैं जबकि राजीव त्यागी और पवन गर्ग स्वतंत्र प्रत्याशी हैं. कुल 34 प्रत्याशियों का भविष्य मतदान पेटियों में बंद हो गया.

---

रिकॉर्ड मतदान से साफ जाहिर हो रहा है कि कारोबारियों में संघ के चुनाव को लेकर खासा रुचि है. पुलिस-प्रशासन के अलावा कारोबारियों की मदद से निष्पक्ष चुनाव संपन्न हुआ है.

-मुकुल सिंघल, मुख्य चुनाव अधिकारी