क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: रिम्स में एक बार फिरन् जूनियर डॉक्टरों की दादागीरी सामने आई है. जहां डॉक्टरों ने पहले मरीज के परिजन की पिटाई कर दी. इसके बाद वीडियो बना रहे एक पत्रकार को भी नहीं छोड़ा. इस दौरान परिजनों ने डॉक्टर की पिटाई का वीडियो बनाना शुरू कर दिया. यह देख्र जूनियर डॉक्टर आगबबूला हो गए और परिजनों को फिर से खदेड़ना शुरू कर दिया. परिजनों ने पुलिस पिकेट में भागकर जान बचाई. लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें वहां भी नहीं छोड़ा. वहीं अपने कई साथियों को भी बुला लिया. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस के अधिकारी रिम्स पहुंचे और दोनों पक्षों से बात की. इसके बाद पत्रकार हितेश चौधरी ने जूनियर डॉक्टरों के खिलाफ कंप्लेन दर्ज कराई है. वहीं डायरेक्टर को भी घटना की जानकारी दी गई. डायरेक्टर ने मामले में एक्शन लेने का भरोसा दिलाया है.

क्या है मामला

पिस्का मोड़ में रहने वाले धीरज प्रसाद अपने बच्चे हंसराज को लेकर इलाज कराने गुरुवार को रिम्स आए थे. जहां बच्चे को देखते हुए उसे पेडियाट्रिक वार्ड में एडमिट कराया गया. बच्चे को सांस लेने में प्राब्लम हो रही थी तो इसकी सूचना नर्स को दी गई. लेकिन नर्स ने भी बच्चे पर ध्यान नहीं दिया. सुबह 10 बजे के बाद बच्चे का इलाज शुरू किया गया और 12 बजे के करीब उसकी मौत हो गई. इसके बाद परिजन नाइट में ड्यूटी डॉक्टर का नाम पूछने गए ताकि वे कंप्लेन कर सकें. बस फिर क्या था जूनियर डॉक्टरों ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया.