क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: गहनाघर डकैती कांड अब खुलासे के कगार पर है. पुलिस बहुत जल्द हमलावरों तक पहुंचने में कामयाब हो जाएगी. कांड के खुलासे में लगी रांची पुलिस को डोभी के छोटू पासवान और गया के प्रिंस एवं जयराम यादव की तलाश है. इसके लिए बिहार पुलिस के साथ ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया जा रहा है, लेकिन तीनों अपराधी घटना वाले दिन से ही ट्रेसलेस हैं. पुलिस इन तीनों के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. इस मामले में डोभी थाना और गया के रामपुर थाना क्षेत्र में भी सर्च अभियान चलाया गया है. पुलिस को अपराधियों के हजारीबाग तक पहुंचने का सीसीटीवी फुटेज मिला है, लेकिन उसके बाद वे लोग गायब हो गए हैं.

बड़कागांव होते रामगढ़ वापसी के चांसेज

सूत्र बताते हैं कि कांड को अंजाम देने के बाद राजधानी से फरार होने वाले चारों अपराधियों ने हजीराबाग से बड़कागांव के रास्ते दोबारा रामगढ़ एरिया में प्रवेश किया है. यहां से वे लोग चतरा, पतरातू, रामगढ़, रांची कहीं भी जा सकते हैं. बिहार पुलिस लगातार इन अपराधियों के ठिकानों पर नजर बनाए हुए है.

200 किमी से ज्यादा का बेखौफ सफर

लालपुर के अमरावती कॉम्प्लेक्स स्थित गहना घर ज्वेलर्स के व्यवसायी बंधु रोहित खिरवाल और राहुल खिरवाल को सोमवार को अपराधियों ने गोली मारकर जख्मी कर दिया था. इसके बाद वे हथियार लहराते आराम से 200 किमी से ज्यादा का सफर बेखौफ तरीके से किए. इस पूरे मामले में कंट्रोल रूम के अलावा रांची पुलिस के एक बड़े अफसर सहित कुछ जूनियर अफसरों की लापरवाही की बात भी सामने आई है.

कहां छिपा है 5वां अपराधी

राजधानी से बाहर भागने में सिर्फ चार अपराधी शामिल थे, जबकि एक कोकर से खेलगांव के बीच बाइक से उतर गया था. वो कहां गया, इसके बारे में पुलिस छानबीन कर रही है. अब तक वारदात में शामिल कोई अपराधी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है. कुछ शातिर अपराधियों से झारखंड के अलावा बिहार के जेलों में भी पूछताछ की जा रही है. कुछ को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

एसएसपी की 24 घंटे मानिटरिंग

इस मामले में रांची एसएसपी अनीश गुप्ता लगातार 24 घंटे मानिटरिंग कर रहे हैं. कांड में लगे पुलिस अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश है कि रात के किसी भी वक्त कॉल कर सकते हैं. रांची पुलिस लगातार बिहार पुलिस के अधिकारियों के साथ तालमेल बनाए हुए है. राज्य पुलिस की टेक्निकल टीम भी अलर्ट पर है.

Posted By: Inextlive