पीडि़त परिवार से एक करोड़ की मांगी थी फिरौती

अपहरण की साजिश रचने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

Meerut. परिवार के साथ मथुरा वृंदावन घूमने गए ऋषि नगर निवासी एक व्यापारी के पुत्र का उसके घर के ही नौकरों ने एक करोड़ रुपए की फिरौती के लिए अपहरण का प्रयास किया. लेकिन इस दौरान व्यापारी के भतीजे ने अपहरण कर्ताओं को देख लिया. मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी नौकर समेत उसके एक साथी को गिरफ्तार कर बच्चे को घर की छत से ही बरामद कर लिया.

नौकर ने रची थी साजिश

ऋषिनगर निवासी अनिल गुप्ता दो दिन पहले अपने परिवार के साथ मथुरा दर्शन पर गए थे. इस दौरान नेपाली नौकर के साथ उनका 15 वर्षीय पुत्र केशव घर पर ही था. शनिवार दोपहर केशव को सोते समय नकाबपोश बदमाशों ने हाथ पैर बांध कर किडनैप कर लिया. कुछ देर बाद ही अनिल का भतीजा घर पहुंचा तो मेन गेट को खुला देख जैसे ही वह अंदर पहुंचा तो नौकर जमीन पर बंधा हुआ पड़ा था. उसने तुरंत नौकर के मुंह समेत हाथ व पैर से कपड़ा खोलकर मामले की जानकारी ली तो नौकर ने बताया कि कुछ बदमाश केशव का अपहरण करके ले गए हैं. मामले की जानकारी परिजनों को मिली तो हडकंप मच गया. आनन फानन में कारोबारी मथुरा से वापस मेरठ के लिए चल दिए तभी रास्ते में अपहरण कर्ताओं ने फोन करके एक करोड़ की फिरौती की मांग कर दी.

छत पर बंधा मिला बच्चा

घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची डॉयल 100 पुलिस नौकर से पूछताछ में जुटी थी इसी दौरान अनिल का भतीजा छत पर पहुंचा तो देखा की छत पर पानी की टंकी के पास केशव बंधा हुआ पड़ा था उसके साथ एक बदमाश चाकू लेकर खड़ा था. बदमाश को देखते ही युवक ने शोर मचा दिया. शोर सुनकर पुलिस ने बदमाश को कब्जे में ले लिया. पकड़े गए बदमाश ने बताया कि उसने नेपाली नौकर के साथ मिलकर बच्चे के अपहरण की साजिश रची थी. घटना की जानकारी मिलते ही एसएसपी अजय सहानी, एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह मौके पर पहुंच गए और जल्द बाकि बदमाशों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया.