60 से 70 लाख श्रद्धालुओं के संगम स्नान करने की संभावना

पुलिस और प्रशासन के बीच दिनभर चलती रही प्लानिंग

prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: पौष पूर्णिमा के मौके पर मेला एरिया में आने वाले कल्पवासियों के वाहनों को नहीं रोका जाएगा. मेला प्रशासन का कहना है कि कुंभ में कल्पवासियों का आगमन शुरू हो गया है और पौष पूर्णिमा से मेला बस जाएगा. ऐसे में दूर-दराज से आने वाले कल्पवासियों के वाहनों को पुलिस को नहीं रोकने का आदेश दिया है. इसके अलावा पब्लिक के वाहनों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. मेलाधिकारी विजय किरन आनंद ने स्नान पर्व की पूर्व संध्या पर पत्रकारों से बातचीत में स्नान पर्व के आयोजन से जुडे़ इंतजामों की जानकारी दी.

तुलसी का पौधा देखकर देंगे हरी झंडी
आमतौर पर कल्पवासी अपने साजो-सामान के साथ पिकअप, ट्रैक्टर-ट्रॉली आदि वाहनों पर लेकर आते हैं. इन वाहनों पर रखे तुलसी के पौधे, केले के पौधे और कासा-पुआल देखकर पुलिस के जवान उन्हें अंदर आने देंगे. उन्होंने कहा कि इस स्नान में 60 से 70 लाख लोगों के स्नान करने की उम्मीद है. इसको लेकर चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है. पुलिस के जवानों को पब्लिक के साथ सौहार्दपूर्ण व्यवहार करने का संकल्प दिलाया गया है. उन्होंने कहा कि मेला कल्पवासियों का है इसलिए उनकी सुख-सुविधा का पूरा ध्यान रखा जा रहा है.उनके लिए इस बार अधिक जमीन आवंटित की गई है. चार गुना से अधिक सुविधा बढ़ाई गई है. श्रद्धालुओं के स्नान के लिए साढे़ पांच किमी के 35 घाट बनाए गए हैं.

आज नहीं चलेगी शटल बसें
उन्होंने कहाकि भीड़ को देखते हुए पौष पूर्णिमा पर शटल बसों को नहीं चलाया जाएगा. शहर के चारों ओर बनाए गए पार्किंग स्थलों से पूर्व की भांति यह शटल बसें श्रदृालुओं को नजदीकी प्वॉइंट पर उतार देंगी. वहां से पैदल संगम तक चलकर जाना होगा. लखनऊ से आने वाले वाहनों को बक्शी बांध, आईईआरटी, गंगेश्वर महादेव और बेला कछार में पार्किंग दी गई है.इसके बाद संगम तक 3 से 5 किमी चलकर उन्हे आना होगा. उन्होंने कहा कि यह स्नान मौनी अमावस्या के स्नान के पूर्व हम रिहर्सल की तरह ले रहे हैं. अगर भीड़ कम हुई तो मेला एरिया में शटल बसें चलाई जा सकती है.

वेंडर्स पर हो रही कार्रवाई
मेलाधिकारी ने कहा कि मेले में स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. श्रद्धालुओं को शौचालय उपलब्ध कराने के लिए वेंडर्स को सख्त निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि दस में से आठ वेंडर्स की रिपोर्ट ठीक है. बाकी दो वेंडर्स की शौचालय की सप्लाई ठीक नही है. उन्हें नोटिस दिया गया है. उन्होंने कहा कि गंगा के जल की बीओडी ठीक आई है. लोग स्वच्छ और निर्मल जल में स्नान करेंगे. प्रेसवार्ता में डीआईजी कवींद्र प्रताप सिंह, एसडीएम मेला दिलीप त्रिगुणायत आदि मौजूद रहे.